कैदियों के द्वारा बनाये गए सामान बेचने के लिए प्रदेश भर में लगाए गए आउटलेट!

वाराणसी :  अपने गुनाहों की सजा काट रहे  कैदियों की जिंदगी अब जेल में रहते हुए भी संवरने लगी है क्योंकि वाराणसी के सेंट्रल जेल में बंद कैदी अब स्वावलंबी हो रहे हैं |

जेल के अंदर रहते हुए उनके द्वारा निर्मित किए गए सामानों की बिक्री के लिए प्रदेश के पहले आउटलेट का उद्घाटन आज वाराणसी में एडीजी कारागार के द्वारा किया गया |

कैदियों को स्वावलंबी बनाने के लिए उठाए जा रहे कदम के इस क्रम में सेंट्रल जेल के परिसर में  फर्नीचर,हथकरघा और कपड़े धुलने के लिऐ लांड्री के सुविधा की भी शुरुआत की गई|

शिवपुर स्थित सेंट्रल जेल में बंद कैदियों की ओर से बनाये गए सामानों को आम लोगों को तक पहुँचाने के लिए सेन्टर जेल के बाहर खुले ऑउटलेट का उद्घाटन करने प्रदेश के एडीजी कारागार श्री प्रकाश चंद्र पहुँचे |

प्रदेश में इस तरह के पहले आउटलेट में खाने पीने की वस्तुओं के अलावा बेडशीट,चादर और फर्नीचरों का भी कलेक्शन होगा | जो पूरी तरह से जेल में बंद कैदियों के हाथों से बना होगा |

 

कोचिंग पढ़ कर लौट रहे छात्र की कुछ लोगों ने की हत्या, पुलिस के हाथ खाली !

 

सेंट्रल जेल के बाहर खुले इस आउटलेट का शुभारम्भ प्रदेश कारागार के एडीजी ने विधिवत पूजन कर आउटलेट का शुभारंभ किया | इसके बाद प्रदेश के अलग अलग जेलों में निषिद्ध वस्तुएं पाए जाने के बाद सेंट्रल जेल परिसर का निरीक्षण भी किया |

इस मौके पर मीडिया से बात करते हुए बताया कि इस प्रकार के कदम से कैदियों के जीवन मे नया बदलाव आ रहा है और जेल से रिहाई के बाद अपने नए जीवन की शुरुआत भी कर सकते हैं |

वहीं प्रदेश के अलग अलग जेलों में हो रहे घटनाओं को रोकने के लिए प्रयास भी किया जा रहा है |  गाजीपुर और नैनी के जेलों में मोबाइल फ़ोन से बात करते हुए वायरल हुई तस्वीरों के सवाल के जवाब में बताया कि इस मामले दो लोग को निलंबित किया जा चुका है और आगे की जांच में जो भी दोषी होगा उस पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी |

 

=>
LIVE TV