आप भी बन सकते हैं डेटा साइंटिस्ट

Roles-of-a-Data-Scientist_57090b379d989एजेन्सी/अगर आपमें विश्लेषण और कहानी कहने का स्किल है तो आपके लिए डेटा साइंटिस्ट की नौकरी पर्फेक्ट है. जिन कैंडिडेट्स ने मैथ्स, कंप्यूटर साइंस, मेकेनिकल इंजीनियरिंग में एमटेक या एमएस किया है वो डेटा साइंटिस्ट बन सकते हैं. इसके साथ ही कैंडिडेट्स को Python, Java, R, SAS प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की भी नॉलेज होनी चाहिए.

अधिकतर कंपनियां कॉम्पिटिशन में आगे बने रहने के लिए डेटा साइंटिस्ट की मदद लेती हैं. ये साइंटिस्ट रिजल्ट्स का बड़ी बारीकी से एनालिसिस करते हैं. डेटा स्टोर करने वाली कंपनीज, जैसे- गूगल, अमेजन, माइक्रोसॉफ्ट, ईबे, लिंक्डइन, फेसबुक और ट्विटर आदि को सबसे ज्यादा जरूरत डाटा साइंटिस्ट की ही है.
क्या है डेटा साइंटिस्ट 
डेटा साइंटिस्ट का काम डेटा को कैप्चर करना है. जिसके लिए प्रोग्रामिंग स्किल्स और डेटाबेस स्किल्स की जरूरत होती है. डेटा साइंटिस्ट स्टेट और मैथ्स टूल के जरिए डेटा का विश्लेशण करता है. इसको वह पॉवर प्वाइंट , एक्सेल, गूगल विश्वुलाइजेशन के जरिए प्रस्तुत करता है. लेकिन डेटा को वह एक कहानी के जरिए जोड़ते हुए बयां करता है.

डेटा साइंटिस्ट बनने के लिए जरूरी क्वॉलीफिकेशन
डेटा साइंटिस्ट बनने के लिए कैंडिडेट्स के पास मैथ्स, कंप्यूटर साइंस, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, एप्लाइड साइंस, मेकेनिकल इंजीनियरिंग में एमटेक और एमएस की डिग्री होना जरूरी है. यही नहीं कैंडिडेट्स को सांख्यिकी मॉडलिंग, प्रोबेबलिटी की नॉलेज होना बेहज जरूरी है. इसके अलावा Python, Java, R, SAS प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की समझ होना भी बेहद जरूरी है. सबसे ज्यादा जरूरी है कि कैंडिडेट्स में नए प्रोग्राम बनाने के लिए ग्लोबल बिजनेस के साथ काम करने की योग्यता होनी चाहिए.

=>
LIVE TV