Sunday , October 22 2017

कालाधन और भ्रष्टाचार के समर्थकों का आयोजन है भारत बंद

कालाधन और भ्रष्टाचारलखनऊ।  नोटबंदी के खिलाफ विपक्षी राजनीतिक दलों के 28 नवंबर को प्रस्तावित भारत बंद को भारतीय जनता पार्टी ने कालाधन और भ्रष्टाचार के समर्थकों का आयोजन बताया है।

पार्टी ने नोटबंदी के शुरुआती समय में आम जनता को कुछ असुविधाएं होने की बात स्वीकारते हुए कहा है कि जनता भारत बंद के खिलाफ है।

पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता हृदय नारायण दीक्षित के मुताबिक नोटबंदी से होने वाले फायदे को लेकर राज्य की जनता सजग है। वह कांग्रेस, सपा या बसपा के बरगलाने में नहीं आ रही है। आम जनता नोटबंदी के विरोधी दलों का चरित्र जानती है।

उन्‍होंने कहा कि जनता कालेधन के खात्मे के लिए प्रधानमंत्री के संकल्प के साथ है। प्रदेश में भारत बंद पर कोई समर्थक नहीं है। जनता भारत बंद के खिलाफ है। लाखों लोगों ने प्रधानमंत्री की सभा में हाथ उठाकर प्रस्तावित भारत बंद का विरोध किया है।

एक सवाल के जवाब में उन्‍होंने कहा कि बेशक नोटबंदी के प्रथम सप्ताह में आमजनता को कुछ असुविधाएं हुई, लेकिन अब बैंकों के सामने कतारें घटी हैं। अगले सप्ताह सारी आर्थिक गतिविधि सामान्य हो जाएगी। राज्य की जनता ने असुविधाओं के बावजूद इस फैसले का स्वागत किया है।

उन्होंने कहा कि निर्णय क्रियान्वयन से प्राप्त राजस्व से रोजगार में बढोतरी होगी, राष्ट्रीय विकास भी होगा।

=>
LIVE TV