कहीं Depression तो नहीं pratyusha सुसाइड की वजह , शरीर के इन लक्षणों को न करें इग्नोर

download (91)एजेन्सी/प्रत्यूषा बनर्जी की आत्महत्या के पीछे क्या कारण रहा, यह अभी तक सस्पेंस बना हुआ है, लेकिन ऐसा कहा जा रहा है कि वे डिप्रेशन का शिकार थीं। डिप्रेशन अचानक नहीं होता। लंबे समय से इसके संकेत नजर आने लगते हैं। आप भी जानिए इनके बारे में…

गौरतलब है कि फिल्म निर्माता करण जौहर ने प्रत्यूषा की आत्महत्या पर दुख जताते हुए ये ट्वीट किया था कि डिप्रेशन के हालात को बयां करती हैं प्रत्युषा की खुदकुशी। उनकी मौत वैसे लोगों के लिए सजग करने वाली है जो अवसाद को नजरंदाज कर देते हैं।

1- डिप्रेशन में बिहेवियर अजीब सा हो जाता है। छोटी-छोटी बात पर परेशान होने लगते हैं। किसी की बात पर विश्वास न करना भी डिप्रेशन का लक्षण है। इसमें ऐसी चीजों से भी लोग दूर होना शुरू कर देते हो जो उन्हें खुशी देती है। किसी से मिलने का मन नहीं करता।

2- अचानक वजन बढ़े या घटे, तो ध्यान दें। हो सकता है ये डिप्रेशन हो। इसके अलावा नींद ना आना, रात को सोते-सोते अचानक जग कर बैठ जाना सभी डिप्रेशन के लक्षण हैं। चिड़चिड़ापन भी इसका शुरुआती संकेत है।

3- आत्महत्या का ख्याल आने लगना। अकेले होने पर जीने की इच्छा न होने या फिर सुसाइड करने के तरीके ध्यान में आना भी डिप्रेशन है।

4- डिप्रेशन के शिकार लोगों को एंजाइटी होने लगती हैं।छोटी-छोटी बातों पर पैनिक करना या फिर अचानक से निराश हो जाना इस बीमारी का लक्षण है।  

5- बहुत ज्यादा थकान रहना या फिर जरा काम करने से थकान होना भी डिप्रेशन होने का लक्षण है। काम पर फोकस न कर पाना भी इसका लक्षण है।

6- किसी बात के लिए बहुत ज्यादा पछतावा होना, निराश महसूस करना और आत्मग्लानि होना भी डिप्रेशन का लक्षण है।

=>
LIVE TV