ओवैसी का ऐलान, यूपी विधानसभा में गूंजेगा ‘जय भीम जय मीम’ का नारा

आल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलिमीन (एआईएमआईएम) के अध्यक्ष और हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि अगली विधानसभा में ‘जय भीम-जय मीम’ का नारा गूंजेगा।

asaduddin-owaisi_landscape_1459180294उन्होंने मुजफ्फरनगर दंगे की जांच रिपोर्ट पर सवाल उठाया। कहा, जिस दंगे में 60 से ज्यादा जानें गई, 50 हजार लोग बेघर हुए, क्या उसके लिए सिर्फ दो लोग जिम्मेदार हैं ? उन्होंने दंगे के लिए सूबे की हुकूमत को जिम्मेदार बताया।

असुद्दीन ओवैसी सोमवार को यहां यहां बुलाकी अड्डे पर एआईएमआईएम कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा, यूपी के अवाम की खिदमत के लिए हम मजलिस को मजबूत करना चाहते हैं। हमने बीकापुर उपचुनाव में हिस्सा लेकर इसकी शुरूआत कर दी है।

इस चुनाव से हमने पैगाम दिया कि एआईएमआईएम हम सिर्फ मुसलमानों या दलितों की बात नहीं करती। हम 90 फीसदी हिंदुस्तानियों की बात करते हैं। हमारी लड़ाई 10 फीसदी उन लोगों से है जिन्होंने व्यवस्था पर कब्जा कर रखा है।

‘सपा व भाजपा एक ही सिक्के के पहलू करेंगे बेनकाब’

कहा, यूपी में हमारी लड़ाई सपा और भाजपा से है। दोनों एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। हम इन्हें जनता के बीच बेनकाब करेंगे।

उन्होंने कार्यकर्ताओं से यूपी की सरजमीं पर एआईएमआईएम को मजबूत करने का आह्वान किया। कहा, बीकापुर में हमने दलित समाज का प्रत्याशी उतारा। अगली बार विधानसभा में से ‘जय भीम-जय मीम’ का नारा गूंजेगा।

अवाम को धोखा, कहां गया समाजवाद

ओवैसी ने कहा, सपा सरकार ने अवाम को धोखा दिया है। मुसलमानों को आरक्षण देने का वादा कहां गया? अल्पसंख्यकों की योजनाओं का 708 करोड़ रुपये खर्च नहीं हुआ। यूपी में 19 फीसदी मुसलिम आबादी है लेकिन केवल 1200 करोड़ रुपये का बजट है।
तेलंगाना जैसे छोटे राज्य में जहां केवल 12 फीसदी मुसलिम हैं, अल्पसंख्यक कल्याण योजनाओं का 1300 करोड़ रुपये बजट है।
इसमें से 85 फीसदी खर्च हो चुका है।

यूपी में एमएसडीपी, एजूकेशन हब का पैसा खर्च नहीं हुआ। पॉलीटेक्निक की बिल्डिंग बन गई हैं लेकिन उनमें पढ़ाई शुरू नहीं हुई।

60 मौत, 50 हजार बेघर, जिम्मेदार केवल दो लोग

ओवैसी ने कहा, मुजफ्फरनगर दंगे में 60 से ज्यादा लोग मारे गए, 50 हजार लोग बेघर हुए लेकिन जस्टिस सहाय कमीशन ने केवल दो लोगों को दंगे के लिए जिम्मेदार ठहराया है।

सवाल उठाया क्या एसपी और एलआईयू इंसपेक्टर दंगे के लिए जिम्मेदार है ? उन्होंने कहा, सूबे की हुकूमत, उसकी नीतियां और प्रशासन दंगे के लिए जिम्मेदार हैं। ये कैसी हुकुमत है जो इतने बड़े दंगे में खुद को क्लीन चिट दिलाती है ?

2017 में क्लीन बोल्ड होंगे अखिलेश

ओवैसी ने कहा, सूबे के ब्यूरोक्रेट्स चार साल से क्रिकेट मैच खेलकर सीएम की टीम को जिताते हैं, मुख्यमंत्री को मैन ऑफ द् मैच बनाते हैं। लेकिन, 2017 में वह क्लीन बोल्ड होने जा रहे हैं। यूपी सरकार से दलित, मुसलिम और पिछड़े तंग आ चुके हैं। सरकार हर मोर्चे पर नाकाम है।

आरएसएस की सभा होने देंगे, ओवैसी से परेशानी

ओवैसी ने कहा, सूबे में हमारी लड़ाई सपा सरकार की नीतियों से है। सपा सरकार ने साढ़े तीन साल में प्रदेश में हमें एक भी जलसे की इजाजत नहीं दी। सपा सरकार एआईएमआईएम से डरती है।

कहा, आज संघ के प्रमुख आए हैं, सरकार आरएसएस की सभा होने देगी लेकिन ओवैसी से परेशानी है। बीकापुर उपचुनाव में हमने निर्वाचन आयोग की अनुमति से दो सभाएं की। हमारा मकसद गरीबों, मजलूमों को हक दिलाना है, उन्हें जुल्म से छुटकारा दिलाना है।

आरएसएस से प्रंमाणपत्र की जरूरत नहीं

ओवैसी ने संघ पर हमला करते हुए कहा, 1857 की जंगे आजादी में ये कहां थे। आजादी की लड़ाई में हमने अंग्रेजों से माफी नहीं मांगी। हम फख्र के साथ कहते हैं कि हम वतन के अव्वल दर्जे के नागरिक हैं। हमें किसी (संघ) से वतनपरस्ती का प्रमाणपत्र लेने की जरूरत नहीं है।

हमने मुल्क को खून से सींचा है। जंगे आजादी में गर्दन कुर्बान की हैं, फांसी और काला पानी की सजा काटी हैं। मुल्क के लिए एक जान नहीं, पूरा खानदान कुर्बान किया है। हम अल्लाह के आगे सिर झुकाते हैं, जालिमों के आगे नहीं झुकते।

=>
LIVE TV