ऐसे करे सिग्नेचर से लोगो की पर्सनालिटी की पहचान…

सिग्नेचर हमारे संपूर्ण व्यक्तित्व को परिभाषित करता है. जिस प्रकार एक चावल हांडी का हाल बता देता है वैसे ही हस्ताक्षर व्यक्तित्व की परतें खोल देता है. गहरे धंसे दबावयुक्त दस्तखत व्यक्ति के जिम्मेदार होने के परिचायक हैं. ऐसा इंसान ईमानदार कर्मठ और वचन का पक्का होता है. लोगों का भरोसा जीतता है. महत्वपूर्ण कार्यों को निभाता है. हालांकि थोड़ा अड़ियल हो सकता है. लिखावट सुंदर होती है. ऐसे लोग अक्सर बैंक ऑफिस स्टाफ, क्लैरिकल जॉब या एकाउंट से संबंध रखते हैं.

बड़े फैलाव के साथ सिग्नेचर करने वाले दिखावाप्रिय एवं शौकीन होते हैं. स्वतंत्र व्यक्तित्व रखते हैं. नीति नियमों की बहुत परवाह नहीं करते. आय-व्यय अनिश्चित होता है. हालांकि जीवन स्तर अच्छा रहता है. अच्छे मित्र होते हैं. ऐसे लोग एजेंट, ब्रोकर एवं फ्रंट ऑफिस जॉब से जुड़े हो सकते हैं.

सुंदर संतुलित और आकर्षक हस्ताक्षर वाले लोग अच्छा स्वास्थ्य और व्यवहार रखते हैं. अनुशासित उत्साहित रहते हैं. प्रत्येक कार्य को बखूबी करते हैं. टोकाटाकी इन्हें नापसंद होती है. ये लोग छोटी टीम का बेहतर प्रबंधन करते हैं. मिड लेवल जॉब में पूरी तरह फिट बैठते हैं. तर्कशील होते हैं.

छोटे संकीर्ण जल्दी में किए गए सिग्नेचर वाले बंदे जरूरत से ज्यादा व्यस्त नजर आते हैं. इन्हें स्वयं को व्यवस्थित रखने के लिए अन्य की जरूरत होती है. धुन के पक्के लगनशील होते हैं. विशेषज्ञ, प्रतिष्ठित होने के बावजूद वैचारिक मामलों में न्यून होते हैं. सीखे हुए पर बड़ा भरोसा करते हैं. सीमित लेकिन पक्के मित्रों वाले होते हैं. जैसे- डॉक्टर, इंजीनियर आदि.

जो लोग पहला लेटर बड़ा और स्पष्ट बनाते हैं और पूरा नाम लिखते है. उनका व्यक्तित्व आकर्षक और मनोबल ऊंचा होता है. पहल करने में आगे होते हैं. पेशेवरता रहती है. खुद का ऑफिस एवं स्टाफ रखते हैं. मल्टी टास्क करने की क्षमता रखते हैं. इन्हें घरेलु कार्यों से लेकर कॉरपोरेट मीटिंग्स तक की गहरी समझ होती है.

सरनेम पर जोर देने वाले बंदे खुद से ज्यादा टीम पर भरोसा रखते हैं. बड़ी टीम हैंडल करने की क्षमता रखने वाले लीडर हो सकते हैं. कान के कच्चे होते हैं. स्वप्रशंसा से प्रभावित होते हैं. धर्म संस्कार परंपरा खानदान को बढ़ा चढ़ा कर रखते हैं. कारोबार फैला हुआ हो सकता है.

केवल नाम को महत्व देने वाले सेल्फमेड होते हैं. प्रत्येक कार्य मनोयोग से करते हैं. चूक होने की संभावना इनसे कम ही रहती है. हालांकि औरों से तालमेल में कमजोर होते हैं. रिश्ते बनते बिगड़ते रहते हैं. इन्हें अपनों को सुनने की आदत जरूर रखनी चाहिए.

नीचे या ऊपर बिना सीधी लाइन खींचे दस्तखत करने वाले स्वतंत्र मनमौजी कलाकार और विचारक होते हैं. बंधन इन्हें पसंद कम होते हैं. रुटीन लाइफ में बोर फील करते हैं. कभी फुटपाथ तो कभी फाइव स्टार में नजर आते हैं. जिंदगी के हर रंग को एंजॉय करते हैं.

नीचे अथवा ऊपर एक लाइन खींचने वाले सेट लाइफ जीते हैं. जीवन में लयबद्धता होती है. अच्छे फॅमिलीमैन होते हैं. सबसे बनाकर चलते हैं. छोटी बातों का भी बेहतर प्रबंधन रखते हैं. समाज के मध्यवर्गीय तबके में आता है. जीवटता कूट-कूट कर भरी होती है.

नीचे दो लाइन खींचने वाले दिखावाप्रिय एवं औरों उम्मीद रखने वाले होते हैं. जीवन को हमेशा एक सुरक्षा कवच में रखना में चाहते हैं. सामर्थ्य से अधिक प्रदर्शन करते हैं. कार्य व्यापार सीमित होता है. रिश्ते सामान्य रहते हैं. रहन सहन सुंदर मगर अनिश्चित रहता है.

नीचे तीन लाइन बनाने वाले अविश्वासी और डरने वाले होते हैं. पहल करने से बचते हैं. अनिर्णय की स्थिति में रहते हैं. अकारण चिंता बनी रहती है. इन्हें औरों की सलाह से आगे बढ़ना पसंद होता है. जीवन सहजता से जीने में भरोसा रखते हैं.

=>
LIVE TV