इमरान सरकार की गलत नीतियों से देश दिवालिया होने के कगार पर, पाक में विपक्षी दलों ने बोला हमला

पाकिस्तान में 11 विपक्षी दलों के गठबंधन पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) के नेताओं ने आरोप लगाया है कि इमरान खान के नेतृत्व वाली सरकार की गलत नीतियों ने देश को दिवालिया होने के कगार पर ला दिया है। डान ने बाचा खान चौक पर आयोजित एक जनसभा में पीडीएम नेताओं के भाषण को उद्धृत करते हुए कहा है कि उन्होंने संघर्ष शुरू कर दिया है और यह इमरान सरकार को सत्ता से बेदखल किए जाने तक जारी रहेगा, जो 2018 के चुनाव में जनादेश को चुरा कर काबिज हुई थी।

नेताओं ने कहा कि जिन्होंने लोगों से एक करोड़ रोजगार देने का वादा किया, वे अब उनसे मौजूदा रोजगार भी छीन रहे हैं। इस कारण लोग खुदकुशी की बात सोचने लगे हैं। सरकार गिरफ्तारियां समेत अन्य तरीके से जुल्म करने लगी है, लेकिन हमारा संघर्ष तार्किक निष्कर्ष निकलने तक जारी रहेगा। इस सभा को जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम के प्रमुख मौलाना अब्दुल वासे, पख्तूनख्वा मिल्ली अवामी पार्टी के सीनेटर उस्मान काकर, बलूचिस्तान नेशनल पार्टी-मेंगल के आगा हसन, नेशनल पार्टी के खैर जन बलूच, अवामी नेशनल पार्टी के राशिद खान नसर, पीपीपी के वली मुहम्मद तथा पीएमएल-एन के अब्दुल वहाब अटल ने संबोधित किया।

विपक्षी दलों के इस गठबंधन ने खुजदार, ग्वादर तथा हब में भी विरोध सभाएं और प्रदर्शन किया, जहां स्थानीय नेताओं ने संबोधित किया। पीडीएम ने 16 अक्टूबर से पेशावर, गुजरांवाला, कराची, क्वेटा तथा मुल्तान में पांच रैलियां की हैं।

=>
LIVE TV