आरोग्य सेतु ऐप के नाम पर धूर्तता,साइबर आपराध बढ़े…

नई दिल्ली। कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर देश में सरकार की तरफ से आरोग्य सेतु मोबाइल ऐप लॉन्च किया गया है,लेकिन समय के साथ साइबर अपराधी  ने इस ऐप में ऑनलाइन धोखाधड़ी  देखी जा रही है। एक एजेंसी का कहना है कि कोरोना महामारी के समय में इंटरनेट यूजर्स का लाभ उठा कर धोखाधड़ी कर रहे हैं।

एजेंसी ने कहा कि साइबर अपराधी विश्व स्वास्थ्य संगठन से जुड़ी लिंक और लोकप्रिय वीडियो कॉन्फ्रेंस साइटों जैसे ‘जूम’ आदि से मिलते-जुलते लिंक बनाकर भी लोगों की निजी सूचनाएं चुरा रहे हैं।

उत्तर प्रदेश: रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म पर महिला ने दिया बच्चे को जन्म

भारतीय कम्प्यूटर इमरजेंसी प्रतिक्रिया दल (सीईआरटी-इंडिया) की ओर से जारी परामर्श की प्रति में एजेंसी ने कहा है, ‘‘आरोग्य सेतु ऐप के नाम पर साइबर धोखाधड़ी के मामले बढ़े हैं. अपराधी एसआर विभाग, सीईओ या अन्य किसी जानकारी व्यक्ति का नाम लेकर उपयोक्ताओं को यह कह कर निशाना बनाते हैं कि आपका पड़ोसी संक्रमित हो गया है, देखें और कौन-कौन प्रभावित है, क्या आपके संपर्क में आया कोई व्यक्ति भी संक्रमित हुआ है, आरोग्य सेतु ऐप का उपयोग करने के दिशा-निर्देश आदि बहानों का उपयोग करते हैं.’’

 

आरोग्य सेतु ऐप के एक यूजर का कहना है कि यह बताने के लिए कि आसपास में कौन-कौन संक्रमित हुआ है ऐप ब्लूटूथ और जीपीएस का इस्तेमाल करती है. परामर्श में कहा गया है कि हाल में हो रहे साइबर अपराधों में अपराधी इस महामारी का लाभ उठाते हुए लोगों से उनकी संवेदनशील सूचनाएं हासिल कर रहे हैं।

=>
LIVE TV