आज का सुविचार : चाणक्य नीति से जानें किन लोगों के घर में हमेशा रहती है दरिद्रता

आचार्य चाणक्य बहुत गुणवान और विद्वान थे। वह शिक्षक के साथ ही एक कुशल अर्थशास्त्री भी थे। इसके लिए चाणक्य ने पूरी निष्ठा से गहन अध्ययन किया था। चाणक्य ने अपने कौशल और बुद्धि के बल से जीवन में सफलता प्राप्त करने की कई नीतियां बनाई थीं। चाणक्य नीति में बताया गया है कि किन लोगों के घर में हमेशा दरिद्रता बनी रहती है ।

  • चाणक्य के अनुसार जो इंसान अपने आस-पास साफ-सफाई नहीं रखते और गंदे कपड़े पहनते हैं। ऐसे लोगों के पास कभी लक्ष्मी नहीं आती और अगर आ भी जाए तो ठहरती नहीं हैं ! इतना ही नहीं ऐसे लोगों का समाज में कोई मान-सम्मान होता ।
  • चाणक्य कहते हैं कि जो इंसान अपने दांतो को अच्छे से साफ नहीं करता। उसके पास भी लक्ष्मी कभी नहीं रुकती । ऐसे लोगों से लक्ष्मी हमेशा रुष्ट रहती है, जिसके चलते इंसान धीरे-धीरे दरिद्र होता चला जाता है ।
  • चाणक्य की माने तो जो लोग अपनी भाषा पर संयम नहीं रखते हैं या कठोर भाषा का इस्तेमाल करते हैं। उनके पास लक्ष्मी कभी नहीं रुकती हैं, क्योंकि किसी दूसरे इंसान के मन को ठेस पहुंचाने वाले लोगों से लक्ष्मी हमेशा नाराज रहती हैं ! ऐसे लोग गरीबी की कगार पर आ कर खड़े हो जाते हैं ।
  • चाणक्य के अनुसार जो लोग जरूरत से ज्यादा खाना करते हैं, वे दरिद्र हो जाते हैं क्योंकि जरूरत से ज्यादा भोजन करना इंसान को गरीबी की ओर ले जाता है। साथ ही ऐसे इंसान कभी न तो स्वस्थ रहते हैं और न ही लक्ष्मी को पसंद आते हैं ।
  • चाणक्य कहते हैं कि जो लोग सुबह से संध्या तक सोते रहते हैं। उनके ऊपर कभी भी मां लक्ष्मी की कृपा नहीं होती ! सूर्योदय के बाद तक सोते रहने वाले इंसान हमेशा दरिद्रता का सामना करता है ।
  • चाणक्य के अनुसार जो लोग छल-कपट या बुरे कामों से पैसा कमाते हैं उनके पास ज्यादा देर तक पैसा नहीं टिकता है ! ऐसे लोग परेशानियों से घिर जाते हैं जिसके कारण जल्द ही उनका पैसा बर्बाद हो जाता है।
=>
LIVE TV