अवैध दवा फैक्ट्री स्वामी की मां और बहन भी गिरफ्तार, परचेज आर्डर पर औषधि विभाग ने की थी छानबीन

हरथला रेलवे स्टेशन रोड पर अवैध शक्तिवर्धक दवाएं बनाने वाला फैक्ट्री स्वामी फरार है। पुलिस ने बुधवार को उसकी मां और बहन को गिरफ्तार कर लिया। आरोपित ने अपने मकान में किसी बलजीत के नाम पर किराएदारी और अकाउंट खुलवा रखे थे। दवा से आने वाले पैसे का लेन-देन भी उसने बलजीत के नाम से ही किया है। पुलिस और औषधि प्रशासन बलजीत का रिकार्ड खंगालने में लगी है। शक्तिवर्धक दवाओं का कारोबार करने वाला बहुत शातिर है।

पांच अक्टूबर 2018 को भोजपुर के बहेड़ी ब्रह्मनान में नकली दवाओं की फैक्ट्री पकड़ी गई थी। इसके बाद इसने मुरादाबाद में अपना सिंडीकेट बनाकर शक्तिवर्धक दवाओं का निर्माण शुरू कर दिया। दवा का नाम नहीं बदला लेकिन, दवा बनाने वाले व्यक्ति का नाम बदलकर काम शुरू कर दिया। बलजीत नाम इसी का है या फिर किसी दूसरे व्यक्ति का इसकी पड़ताल की जा रही है। औषधि विभाग की टीम ने 30 लाख रुपये की दवाएं बरामद की थी। ढाई करोड़ की मशीनें बंद करने के साथ मकान पर भी सील लगा दी थी। बलजीत के नाम पर रेंट एग्रीमेंट भी करा रखा है। औषधि निरीक्षक नरेश दीपक मोहन ने बताया कि बलजीत के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है। सारे अकाउंट और मकान का रेंट एग्रीमेंट भी इसके नाम पर बनाया गया है। सच्चाई की जानकारी फैक्ट्री स्वामी के पकड़ में आने के बाद ही हो पाएगी।

जिले के मेडिकल स्टोर की होगी जांच

शक्तिवर्धक दवाइयां शहर के होलसेल और रिटेल मेडिकल स्टोर पर बेची जा रहीं हैं। इतना ही नहीं अवैध फैक्ट्री से निकलने वाली ये दवाइयां कम दाम में मिलने की वजह से स्टोर संचालकों ने भी बड़ा स्टॉक मंगवाकर रखा हुआ है। औषधि प्रशासन ने इसकी भी जानकारी जुटानी शुरू कर दी है।

=>
LIVE TV