अविश्वसनीय: पिता रोज़ डांटते थे तो 22 साल के लड़के ने पिता को कई टुकड़ों में काटकर मार डाला !

साल 1930 में अमेरिका में एक सीरियल किलर पकड़ा गया था. नाम था उसका कार्ल पैन्ज़्रम. पुलिस ने जब उसे गिरफ्तार किया तब उसने अपने ज़ुर्म को कबूलते हुए कहा था- I believe the only way to reform people is to kill them. जिसका हिंदी तर्जुमा है- मेरा मानना ​​है कि लोगों को सुधारने का सिर्फ एकमात्र तरीका है- उन्हें मार देना.

दिल्ली में एक बेटे ने अपने पिता की हत्या कर दी है. जो 1930 के उस कातिल की ही याद दिलाता है क्योंकि हत्यारे बेटे ने जुर्म कबूलते हुए कहा है:

मेरे पिता अकसर मुझे डांटा करते थे इसीलिए मैंने उनकी हत्या कर दी.

अब ज़रा इस पर सोचिए कि एक 22 साल के बेटे ने अपने पिता की हत्या सिर्फ इसलिए कर दी क्योंकि वो उसे डांटते थे. अगर उसे पिता की डांट पसंद नहीं थी तो वो घर छोड़ सकता था, पिता को समझा सकता था. लेकिन उसने पिता की हत्या कर दी.

इस हत्या के पीछे और क्या वजह हो सकती है, ये जांच का विषय है लेकिन शाहदरा की डीसीपी मेघना यादव के बयान से स्थिति कुछ ऐसी ही बन रही है.

पूरी कहानी समझिए. ये बात 21 मई की है. जब दिल्ली के शाहदरा इलाके में 50 साल के संदेश अग्रवाल को उनके भाई और बहन ढूंढ रहे थे. लेकिन काफी ढूंढने के बाद वो नहीं मिले. तभी उनकी नज़र संदेश के बड़े बेटे अमन पर पड़ी. अमन अपने घर से बैग से कुछ सामान लेकर निकल रहा था. संदेश के भाई को जब शक हुआ तो उसने पुलिस को इस बात की जानकारी दी.

 

दुबई: भारतीय युवक ने शाकाहारी इफ्तार वितरण में बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड, 1 किलोमीटर कम्बी थी कतार !

 

कुछ ही देर में पुलिस मौके पर पहुंची. बैग की तलाशी ली, तो उसमें संदेश की कई टुकड़ों में लाश मिली. संदेश का बड़ा बेटा अमन लाश को ठिकाने लगाने के लिए जा रहा था. पुलिस ने अमने के एक दोस्त को भी गिरफ्तार किया है. जबकि उसके तीन दोस्त मौका देखकर पहले ही फरार हो गए.

मृतक के भाई के मुताबिक संदेश की पत्नी, 2 बेटे और एक बेटी है. और ये हत्या प्रॉपर्टी के लिए की गई है. संदेश के भाई के मुताबिक वे पहले ही अपनी आधी प्रॉपर्टी अपने परिवार के नाम कर चुके थे.

लेकिन  जिस प्रॉपर्टी में वो कॉस्मेटिक की दुकान चला रहे थे. उसे लेकर परिवार में अकसर लड़ाई होती थी. संदेश के भाई के मुताबिक उनका बड़ा बेटा वो दुकान हासिल करना चाहता था, लेकिन संदेश उस दुकान को नहीं दे रहे थे. विवादित दुकान को लेकर कोर्ट में केस भी चल रहा है.

संदेश के भाई के मुताबिक उसका परिवार जब छुट्टी मनाने बाहर गया हुआ था तभी बेटे ने मौका देखकर उनकी हत्या कर दी. संदेश के भाई के मुताबिक उनकी हत्या सोमवार की रात ही कर दी गई होगी.

जिसके बाद मंगलवार को वो लाश को ठिकाने लगाने की कोशिश करने में पकड़ा गया. पुलिस अब मामले की छानबीन कर रही है. साथ ही परिवार के बाकी लोगों से भी पूछताछ कर रही है.

 

=>
LIVE TV