अयोध्या विवाद: सुप्रीम कोर्ट आज करेगा अयोध्या मामले की रोजाना सुनवाई का फैसला, जानिए क्यों है ऐसा

अयोध्या विवाद(Ayodhya Dispute) मामले पर हर दिन कोई न कोई नया मोड़ आता जा रहा है. अब इसी कड़ी में अयोध्या मध्यस्थता का फैसला आने के बाद आज सुप्रीम कोर्ट मामले की रोज सुनवाई पर फैसला करेगा. इस बात का का फैसला देने के लिए चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ ये तय करेगी कि मामले की रोज सुनवाई होगी या नहीं.

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार 31 जुलाई को मध्यस्थता पैनल को अपनी रिपोर्ट सौंपनी थी, लेकिन उन्होंने एक दिन बाद यानी एक अगस्त को अपनी रिपोर्ट सौंपी जिसके बाद कोर्ट ने 2 अगस्त को सुनवाई की तारीख तय की है.

Ayodhya Dispute

दरअसल, सुप्रीम कोर्ट का ये नया निर्देश तब आया था जब अयोध्या मामले के एक पक्षकार गोपाल सिंह विशारद ने एक याचिका दायर कर ये कहा कि मध्यस्थता कमेटी के नाम पर विवाद सुलझने के आसार काफी कम हैं.

इससे सिर्फ समय बर्बाद हो रहा है इसलिए कमेटी खत्म कर सुप्रीम कोर्ट स्वयं इस मामले की सुनवाई करे. उनकी दलील थी कि अयोध्या मामले का विवाद 69 सालों से अटका पड़ा है.

सुप्रीम कोर्ट की बनाई मध्यस्थता कमेटी ने विवाद को सुलझाने के लिए दोनों पक्षों के 11 संयुक्त सत्र बुलाए पर बातचीत का कोई सकारात्मक नतीजा नहीं निकला.

सेंगर को पार्टी से निष्कासित किए जाने के बाद सामने आया बीजेपी के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह का यह बयान

गोपाल सिंह विशारद के पिता राजेंद्र सिंह ने ही अयोध्या मामले पर 1950 में पहला मुकदमा दाखिल किया था. जिसमें बिना रोक-टोक रामलला की पूजा का हक मांगा गया था.

उसके बाद फैजाबाद जिला अदालत से होते हुए ये मामला इलाहाबाद हाई कोर्ट तक पहुंचा था. अब ताजा हालात में ये माना जा रहा है कि अगर मध्यस्थता कमेटी की रिपोर्ट से कोई सकारात्मक नतीजा नहीं निकला तो 2 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट खुद इस मामले की रोजाना सुनवाई करने का फैसला ले सकता है.

=>
LIVE TV