अमेरिका और ईरान में तनाव के बीच एक और धमाका, 22 साल बाद हुआ ऐसा

केन्या: अमेरिका द्वारा हमला किए जाने के बाद से लगातार अमेरिका और ईरान दोनों देशों के बीच तनाव स्थितियां बढ़ती ही जा रही हैं। और इसके साथ ही सूचना मिली है कि पूर्व अफ्रीकी देश केन्या में अमेरिका और केन्या के संयुक्त आर्मी बेस पर हमला हुआ है। बता दें कि धमाका विस्फोटक से भरी कार हुआ है।

वहां की स्थिति में अभी भी कोई सुधार नहीं है। आतंकी संगठन अल शबाब ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है। बता दें कि अल शबाब, अल कायदा से जुड़ा हुआ आतंकी संगठन है।

फिलहाल इस हमले में किसी के मारे जाने या नुकसान को लेकर कोई खबर सामने नहीं आई है। बता दें कि ऐसा 22 सालों बाद हुआ है जब अफ्रीका के अंदर किसी अमेरिकी संस्था पर हमला हुआ हो। इससे पहले साल 1998 में नैरोबी में अमेरिकी दूतावास पर बमबारी हुई थी।

बता दें कि दोनों देशों के बीच बढ़ रही तनातनी के बीच ट्रंप ने आज सुबह ट्वीट करते हुए ईरान को चेताया है। ट्रंप ने ट्वीट किया है कि, उन्होंने हम पर हमला किया और हमने उस हमले का जवाब दिया। यदि वे फिर से हमला करते हैं, जो मैं उन्हें सलाह देता हूं कि वे ऐसा न करें, तो हम उन पर पहले से कहीं ज्यादा जोरदार हमला करेंगे, जैसा अब तक कभी नहीं हुआ।

डेढ़ साल पूर्व पत्नी की हत्या कर शव दफनाया, पुलिस ने खुदाई में बरामद किया कंकाल

वहीं इस ट्वीट के बाद माना जा रहा है कि, दोनों देशों के बीच तनाव और बढ़ सकता है। जहां एक ओर ट्रंप ने हमले न करने की चेतावनी दी है तो वहीं दूसरी ओर ईरान ने प्रमुख मस्जि द पर लाल झंडा लहराकर युद्ध की स्थिति का ऐलान कर दिया है। शिया परंपरा के मुताबिक, मस्जिद पर लाल झंडा फहराना युद्ध और बदला लेने का प्रतीक होता है।

=>
LIVE TV