Friday , February 24 2017

पहली जंग से पहले विराट ने इस खिलाड़ी को बताया डीआरएस से ज्यादा भरोसेमंद

विराट कोहलीपुणे। सीमित ओवरों की टीम के नए कप्तान विराट कोहली की अगुआई में भारतीय टीम इंग्लैंड के खिलाफ रविवार से शुरू हो रही एकदिवसीय श्रृंखला का पहला मैच जीतकर नए साल की अच्छी शुरुआत करना चाहेगी। तीन एकदिवसीय मैचों की श्रृंखला का पहला मैच महाराष्ट्र क्रिकेट संघ स्टेडियम में खेला जाएगा।

महेन्द्र सिंह धौनी के एकदिवसीय और टी-20 की कप्तानी से इस्तीफा देने के बाद कोहली को दोनों प्रारुपों में टीम की कमान दी गई है। इसी साल इंग्लैंड में एक जून से 18 जून तक होने वाली आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी से पहले भारतीय टीम के पास यह इकलौता मौका है खेल के इस प्रारूप में अपने आप को मजबूत करने का।

इसके बाद भारत को पांच टेस्ट मैच खेलने हैं जिसमें से एक मैच बांग्लादेश और चार टेस्ट मैच आस्ट्रेलिया के खिलाफ खेलने हैं। इसके बाद भारतीय खिलाड़ी घरेलू टूर्नामेंट इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में खेलेंगे जो तीन अप्रैल से 26 मई के बीच खेली जाएगी।

टेस्ट में 18 मैचों से अजेय टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने नियमित कप्तान के रूप में पहले वनडे मैच से पहले कहा कि एमएस धोनी पर अब कप्तानी का बोझ नहीं है, ऐसे में वह खुलकर बल्लेबाजी कर पाएंगे और उसमें नए प्रयोग भी कर पाएंगे। उन्होंने धोनी को लेकर कहा, ‘वह मौजूदा दौर के सबसे समझदार क्रिकेटर हैं। वह ऐसे व्यक्ति हैं, जिन पर मैं कई अहम निर्णय लेते समय भरोसा कर सकता हूं। इसमें डीआरएस भी शामिल है।’

इस एकदिवसीय श्रृंखला से पहले भारत ने इंग्लैंड को टेस्ट श्रृंखला में 4-0 से मात दी थी। रविवार को खेले जाने वाले मुकाबले में भारत इस मानसिक बढ़त के साथ मैदान पर उतरेगा। इस समय आईसीसी रैंकिंग में पांचवें स्थान पर काबिज इंग्लैंड 1984-85 से भारत में एकदिवसीय श्रृंखला नहीं जीत पाई है। मेहमान टीम अपनी इस बुरे इतिहास को बदलने के इरादे से मैदान पर उतरेगी।

कागजों पर दोनों टीमें मजबूत हैं। इंग्लैंड ने इंडिया ए के खिलाफ खेले गए पहले अभ्यास मैच में जीत हासिल की थी तो दूसरे मैच में इंडिया ए ने इंग्लैंड को हराया था।

भारत के नियमित सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा की गैरमौजूदगी में लोकेश राहुल शिखर धवन के साथ पारी का आगाज करने आ सकते हैं। मध्य क्रम में कोहली, युवराज सिंह, अंजिक्य रहाणे और धौनी के कंधों पर टीम की जिम्मेदारी होगी।

गेंदबाजी में भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह के साथ उमेश यादव तेज गेंदबाजी का भार साझा कर सकते हैं। रविचन्द्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा दोनों का अंतिम एकदश में खेलने तय है। इन दोनों पर स्पिन की जिम्मेदारी होगी।

वहीं दूसरी तरफ बांग्लादेश दौरे से अपना नाम वापस लेने वाले इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन की वापसी टीम के लिए अच्छा संकेत है। इंग्लैंड की बल्लेबाजी काफी हद तक सलामी जोड़ी जेसन रॉय और ऐलक्स हेल्स पर निर्भर करती है।

मध्य क्रम में जोए रूट से इंग्लैंड को काफी उम्मीदें होंगी। वह टीम की बल्लेबाजी की रीढ़ हैं। उनके अलावा मध्यक्रम में मोर्गन, जॉन बेयर्सटो और मोइन अली भी टीम के लिए अहम साबित होंगे।

अली बल्ले के साथ-साथ गेंद से भी टीम में अहम रोल अदा करते आएं हैं। भारत जैसे देश में जहां पिच हमेशा से स्पिनरों की मददगार ऐसे में मोइन और लेग स्पिनर आदिल राशिद की जोड़ी इंग्लैंड के लिए अहम रोल अदा करेगी।

टीमें (संभावित) :

भारत :- विराट कोहली (कप्तान), मेहन्द्र सिंह धौनी (विकेटकीपर), शिखर धवन, युवराज सिंह, अंजिक्य रहाणे, लोकेश राहुल, रविचन्द्रन अश्विन, रवीन्द्र जडेजा, जसप्रीत बुमराह, केदार जाधव, भुवनेश्वर कुमार, अमित मिश्रा, मनीष पांडे, हार्दिक पांड्य, उमेश यादव।

इंग्लैंड :- इयोन मोर्गन (कप्तान), एलेक्स हेल्स, जेसन रॉय, जोस बटलर (विकेटकीपर), जैक बॉल, क्रिस वोक्स, बेन स्टोक्स, जोए रूट, मोइन अली, सैम बिलिंग्स, जॉन बेयर्सटो, लियम डॉसन, लियाम प्लंकट, आदिल राशिद, डेविड विले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

LIVE TV