बुधवार , जून 20 2018

क्या आपको पता है रेलवे का ये नया नियम…? जानिए किस तरह हो जाएगी आपकी नींद हराम

Railway rulesनई दिल्ली। रेलवे ने रेल यात्रा के दौरान सोने के लिए यात्रियों के बीच होने वाली नोंक-झोंक पर विराम लगा दिया है। दरअसल रेलवे एक नया नियम लागू करने जा रहा है, जिसके मद्देनजर यात्रियों को अब सफ़र के दौरान सोने के लिए एक घंटा कम मिलेगा। अगर नहीं समझे? तो हम बताते है।

अब रेलवे से खत्म होगा ‘VIP कल्चर’, नए बॉस का दबंग फैसला

रेलवे की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि आरक्षित कोचों के यात्री अब रात 10 बजे से लेकर सुबह छह बजे तक ही सो सकते हैं, ताकि अन्य लोगों को सीट पर बाकी बचे घंटों में बैठने का मौका मिले। इससे पहले सोने का आधिकारिक समय रात नौ बजे से सुबह छह बजे तक था।

बता दें कि रेलवे ने अपने इस नए नियम में बीमार, दिव्यांग और गर्भवती महिला यात्रियों को छूट  दी है। ताकि ऐसे यात्रियों को होने वाली परेशानियों को टाला जा सके।

रेलवे का कहना है कि कुछ यात्री ट्रेन में चढ़ने के साथ ही अपनी सीट पर सो जाते थे, चाहे वह दिन हो या रात। इससे ऊपर या बीच की सीट के यात्रियों को असुविधा होती थी।

लेकिन अब इस नियम के लागू हो जाने के बाद से टीटीई को अनुमति वाले समय से अधिक सोने से संबंधित विवादों को सुलझाने में आसानी होगी।

गौरतलब है कि इस नए प्रावधान ने भारतीय रेलवे वाणिज्यिक नियमावली, खंड एक के पैराग्राफ 652 को हटा दिया है। इससे पहले इस प्रावधान के अनुसार यात्री रात के नौ बजे से लेकर सुबह छह बजे तक सो सकते थे। हालांकि अब यात्रियों को रेलवे के नए नियम का पालन करना होगा।

=>
LIVE TV