महाघोटाले के बाद पीएनबी सावधान, निकाला खातों पर नज़र रखने का अनोखा तरीका

नई दिल्ली। सरकारी पंजाब नेशनल बैंक ने हाल में हुई धोखाधड़ी को देखते हुए खातों के मिलान के लिए कृत्रिम बुद्धिमत्ता (एआई) की तैनाती का फैसला किया है। एफएक्यू दस्तावेजों में घोटाले से प्रभावित बैंक ने कहा, “पीएनबी ने आंतरिक लेखा परीक्षा तंत्र को मजबूत करने के लिए पहले ही उपाय किए हैं।

पीएनबी ने

इसके साथ ही बैंक ग्राहक सेवा और ग्राहक जवाबदेही में सुधार के लिए प्रौद्योगिकी की तैनाती पर भी विचार कर रहा है।”

बैंक ने कहा, “खातों में मिलान के लिए एनालिटिक्स और एआई को शामिल करना लेखा परीक्षा प्रणाली को बेहतर बनाने का कदम है। फिनेकल 10 की तैनाती की गई है और बैंक इसकी अतिरिक्त सेवाओं का भी लाभ उठाने को तत्पर है।”

हाल के घोटाले पर बैंक का कहना है, “उसकी प्रणाली में अनैतिक व्यवहार के लिए शून्य सहिष्णुता है।”

एफएक्यू दस्तावेजों के मुताबिक, बैंक ने स्पष्ट किया है कि गीतांजलि समूह द्वारा 942 करोड़ रुपये के अतिरिक्त घोटाले की सूचना नहीं है, बल्कि यह ‘वापस ली गई ऋण सीमा’ है।

=>
LIVE TV