Licence for Weapon पुलिस की रिपोर्ट पर डीएम ने की कार्रवाई 200 पर लटकी तलवार…

शस्त्र लाइसेंस के बढ़ते दुरुपयोग पर जिला प्रशासन सख्त हो गया है। पुलिस जांच में शौकिया शस्त्र लाइसेंस लेने वालों की पोल खुल गई। जान का खतरा न होने पर डीएम प्रभु एन सिंह ने 150 फाइलों को निरस्त कर दिया है। शहरी क्षेत्र के 123 और ग्रामीण क्षेत्र के 27 लोग शामिल हैं। पांच साल के भीतर डीएम की सबसे बड़ी कार्रवाई है। डीएम ने एसएसपी से कहा है कि सभी शस्त्र लाइसेंस की अच्छी तरीके से जांच की जाए। अगर कुछ भी कमी मिलती है या फिर कोई मुकदमा दर्ज है ताे ऐसे लोगों की फाइल को आगे न बढ़ाया जाए। अगस्त 2019 से एक सितंबर 2020 तक सात हजार लोगों ने शस्त्र लाइसेंस के लिए आवेदन किया। आयुध कार्यालय ने सभी आवेदनों को जांच के लिए भेज दिया। संबंधित थाने में आवेदनों का सत्यापन हुआ जिसमें 150 लोग ऐसे चिन्हित किए गए तो शौकिया लाइसेंस लेने का प्रयास कर रहे थे।

फैक्ट फाइल

– कुल शस्त्र लाइसेंस 47716

– रिवाल्वर/पिस्टल 12548

– रायफल 9255

– एसबीबीएल गन 12867

– एसबीएमएल गन 1196

– डीबीबीएल गन 11407

– डीबीएमएल गन 343

शस्त्र लाइसेंस शौक के लिए नहीं है। 150 लोगों को चिन्हित किया गया। पुलिस की रिपोर्ट पर फाइलों को निरस्त कर दिया गया है।

प्रभु एन सिंह, डीएम 

=>
LIVE TV