Friday , May 25 2018

भिंडी में छिपा है सेहत का खजाना, दिलाएगी इन 10 रोगों से छुटकारा

भिंडी में छिपानई दिल्ली। सब्जियों में प्रमुखता से शामिल भिंडी हमारी सेहत के लिए काफी फायदेमंद है। आप इसे केवल साधारण सब्जी न मानें बल्कि इनकी खूबियों को जानें और नियमित रूप से इसे अपने भोजन में शामिल करें।

स्वस्थ रहने के लिए डॉक्टर हमें ज्यादा से ज्यादा हरी सब्जियां खाने की सलाह देते हैं। हरी सब्जियों में भिंडी का महत्वपूर्ण स्थान है। यह स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद है। इसमें कई प्रकार के पौष्टिक तत्व और प्रोटीन मौजूद होते हैं। भिंडी में प्रोटीन, वसा, रेशा, कार्बोहाइट्रेड, कैल्शियम, फॉस्फोरस, लौह मैग्नीशियम, पोटैशियम, सोडियम और तांबा पाया जाता है।

इसलिए भिंडी को बहुत पौष्टिक सब्जी माना जाता है। भिंडी से कई प्रकार की रेसीपी जैसे सब्जी, रायता, सूप, कढ़ी आदि बनाई जा सकती है। इससे निकलने वाला रेशेदार चिकना पदार्थ कई प्रकार के रोगों को ठीक करने में मदद करता है। भिंडी खाने से भूख भी बढ़ती है। आइए भिंडी के गुणों के बारे में जानते हैं।

अच्छे फिगर के साथ पतली कमर भी देता है मखाना

मधुमेह रोगियों के लिए फायदेमंद

भिंडी में फाइबर की भरपूर मात्रा पाई जाती है, जो मधुमेह को नियंत्रित करने में उपयोगी साबित होता है। भिंडी खून में पहले से मौजूद शुगर के अंश को सोख लेती है और ब्लड शुगर के स्तर को सामान्य बनाने में मदद करती है। मैक्स की वरिष्ठ आहार विशेषज्ञ डॉ. सुनिता रॉय चौधरी के मुताबिक शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बनाए रखने में भी भिंडी मददगार होती है। इससे शुगर का स्तर ठीक रहता है या फिर आप शुगर की आशंका से दूर रहते हैं।

पेट के लिए वरदान

भिंडी हमारी आंतों के लिए फिल्टर का काम करती है। यह पेट के पित्त, अम्ल और कोलेस्ट्रॉल को बांध देती है, जिससे आंत को नुकसान नहीं पहुंचता। भिंडी आंतों की खराश को भी दूर करती है। इसलिए पेचिश या गैस की समस्या में भी भिंडी काम आती है। भिंडी शरीर में एसिड को भी बेअसर बनाती है और पाचनतंत्र के कवच के रूप में सुरक्षा करती है।

प्रोबायोटिक्स बनाती है

भिंडी हमारे शरीर में पाए जाने वाले अच्छे बैक्टीरिया को मजबूत करती है। इसके साथ-साथ भिंडी शरीर में प्रोबायोटिक्स के विकास में भी मदद करती है, जिससे हमारा इम्यून सिस्टम मजबूत होता है और पाचन तंत्र बेहतर होता है।

मूत्र की जलन समाप्त करती है

भिंडी पेशाब की जलन को दूर करती है। इसे खाने से पेशाब खुलकर और साफ आता है। इसलिए पेशाब की जलन होने पर भिंडी का सेवन करना चाहिए।

कमजोरी या थकावट में भी कारगर

कमजोरी, थकावट महसूस करने वालों के लिए भिंडी ऊर्जावर्धक दवा की तरह काम करती है। डॉक्टरों के मुताबिक भिंडी डिप्रेशन के शिकार लोगों के लिए भी फायदेमंद साबित होती है।

जोड़ों का दर्द होता है कम

भिंडी में पाया जाने वाला लसलसा पदार्थ हमारी हड्डियों के लिए उपयोगी होता है। इसके अलावा भिंडी में कैल्शियम की अच्छी मात्रा पाई जाती है, जो हड्डियों के लिए लाभकारी होता है। यह जोडमें को लचीला बनाती है।

अस्थमा के रोगियों के लिए लाभकारी

भिंडी अस्थमा के रोगियों के लिए भी काफी लाभकारी साबित होती है। भिंडी में पाया जाने वाला विटामिन सी अस्थमा के लक्षण को पनपने से रोकता है। इसके अलावा भिंडी फेफडमें में सूजन और गले में खराश को ठीक करती है।

आंखें कमजोर हैं तो जरूर खाएं

भिंडी में विटामिन ‘ए’ की अच्छी मात्रा पाई जाती है, जो आंखों के लिए उपयोगी होता है। डॉ. चौधरी के मुताबिक जिन लोगों की आंखें कमजोर होती हैं, उन्हें भिंडी खाने की सलाह दी जाती है। खाने में यदि भिंडी शामिल कर लिया जाए तो आंखों की रोशनी तो दुरुस्त होगी ही, आंखों से संबंधित कई अन्य समस्याएं भी ठीक होती हैं। कुछ रिपोर्ट के मुताबिक भिंडी मोतियाबिंद के जोखिम को भी कम करती है, हालांकि भारत में अभी इस पर शोध जारी है।

खूबसूरत होता है चेहरा

भिंडी में विटामिन सी की भरपूर मात्रा पाई जाती है। इस लिहाज से यह हमारी त्वचा के लिए भी वरदान है। त्वचा को पिंपल फ्री बनाना हो या चेहरे को चिकना और चमकदार बनाना हो, भिंडी हमेशा असरदार साबित होती है।

बालों की कंडीशनिंग

बेजान और रूखे बालों में बाउंस लाने के लिए भी आप भिंडी का इस्तेमाल कर सकते हैं। भिंडी को तब तक उबालें, जब तक कि वह एकदम पतली न हो जाए। फिर उस पानी में नींबू निचोड़कर बालों में लगाएं। इससे बालों की अच्छी कंडीशनिंग होगी और बालों में जान लौट आएगी।

=>
LIVE TV