IPL की स्पॉन्सरशिप में VIVO की जगह लेगे बाबा रामदेव, अब पतंजलि लगाएगी बोली…

IPL के 13वें सीजन से VIVO को हटाए जाने के बाद लीग के लिए नए प्रायोजकों के लिए जगह खाली हो गई है. ऐसे में योगगुरु बाबा रामदेव की पतंजलि भी इस रेस में शामिल हो गई है. हालांकि अभी BCCI की तरफ से इस पर कोई बयान नहीं दिया गया है.

पतंजलि के प्रवक्ता एसके तिजारावाला ने इकोनॉमिक टाइम्स से इस बात की पुष्टि की है. तिजारावाला ने कहा, ‘हम इस साल आईपीएल की टाइटल स्पॉन्सरशिप के बारे में सोच रहे हैं, क्योंकि हम पतंजलि ब्रांड को एक वैश्विक मंच पर ले जाना चाहते हैं. BCCI को इसके लिए एक प्रस्ताव भेजने की तैयारी कर रहे हैं.’

ब्रांड रणनीतिकार हरीश बिजूर ने कहा, ‘आईपीएल के छोटे प्रायोजक होने से आईपीएल से ज्यादा पतंजलि का फायदा होगा. राष्ट्रीय नजरिए से भी यह उनके लिए उपयोगी होगा, क्येंकि भारत में इस समय चीन विरोधी लहर चल रही है.’

IPL 2020 सीजन के लिए BCCI नए टाइटल स्पॉन्सर की खोज में आज टेंडर जारी कर सकता है. वीवो के जाने के बाद से आईपीएल की टाइटल स्पॉन्सशिप के लिए जियो, एमेजॉन, टाटा ग्रुप, ड्रीम 11 और बायजूस जैसी कंपनिया दिलचस्पी दिखा चुकी हैं. बीसीसीआई आईपीएल-13 के नए प्रायोजक के लिए पूरी पारदर्शिता और प्रक्रिया का पालन करेगी.

विशेषज्ञों के मुताबिक VIVO की जगह टाइटल स्पॉन्सशिप हासिल करने के लिए वीवो की रकम 440 करोड़ से कम रकम लगानी होगी. कोई भी कंपनी इसमें आए यह हर किसी के लिए अच्छी स्थिति है.

वीवो ने 2018 से 2022 तक पांच साल के लिए 2190 करोड़ रुपये में (प्रत्येक वर्ष 440 करोड़ रुपए) आईपीएल टाइटल प्रायोजन अधिकार हासिल किए थे. अगले साल वीवो मुख्य प्रायोजक के रूप में लौट सकता है.

बता दें कि भारत में चाइनीज प्रोडक्ट्स का कड़ा विरोध हो रहा है. बता दें कि वीवो एक चीनी फोन निर्माता कंपनी है. गलवान घाटी में भारत और चीनी सैनिकों के बीच टकराव के बाद देश में मौजूदा भावनाओं के कारण बीसीसीआई को यह फैसला करना पड़ा है.

IPL 19 सितंबर से शुरू होकर 53 दिनों तक चलेगा. IPL फाइनल 10 नवंबर को कराया जाएगा, जिससे प्रसारकों को दिवाली के हफ्ते का फायदा मिलेगा. इस बार IPL के 10 डबल हेडर (एक दिन में दो मैच) मुकाबले खेले जाएंगे.

गांगुली ने कहा है कि वीवो के जाने को वित्तीय संकट के तौर पर नहीं देखा जाना चाहिए. गांगुली ने कहा, ‘मैं इसे वित्तीय संकट नहीं कहूंगा. यह थोड़ा सा झटका है और आप इससे तभी निपट सकते हैं जब आप कुछ समय तक पेशेवर तौर पर मजबूत रहेंगे तो.’

गांगुली ने कहा, ‘चीजें एक रात में नहीं आती हैं और बड़ी चीजें एक रात में नहीं जातीं. आपकी लंबे समय तक तैयारी आपको नुकसान के लिए तैयार करती हैं, आपको सफलता के लिए तैयार करती हैं.’

=>
LIVE TV