Monday , August 21 2017

IGNOU : MBA का फॉर्म भरने की लास्ट डेट 15 दिसंबर

एमबीए प्रोग्रामदिल्ली। इंदिरा गांधी नेशनल ओपेन यूनिवर्सिटी (इग्नू) में एमबीए प्रोग्राम 2017 में ऐडमिशन के लिए स्टूडेंट्स अप्लाई कर सकते हैं। इग्नू में साल में 2 बार एमबीए प्रोग्राम के लिए ऐडमिशन होते हैं। एंट्रेंस टेस्ट के लिए फॉर्म भरने की लास्ट डेट 15 दिसंबर है। इग्नू अगस्त और फरवरी में ओपेन मैनेजमेंट ऐप्टिट्यूड टेस्ट (ओपेनमैट) के जरिए एमबीए के अलावा दूसरे मैनेजमेंट कोर्सेज में ऐडमिशन करता है।

मैनेजमेंट कोर्सेज के लिए अलग से स्कूल ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज है। यह एमबीए के अलावा 6 प्रोग्राम में पोस्ट ग्रैजुएट डिप्लोमा करवाता है, जिनमें पीजी डिप्लोमा इन मैनेजमेंट, पीजी डिप्लोमा इन ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट, पीजी डिप्लोमा इन फाइनैंशियल मैनेजमेंट, पीजी डिप्लोमा इन ऑपरेशंस मैनेजमेंट, पीजी डिप्लोमा इन मार्केटिंग मैनेजमेंट और फाइनैंशियल मार्केट्स प्रैक्टिस में पीजी डिप्लोमा हैं। इसके अलावा डिप्लोमा इन मैनेजमेंट प्रोग्राम के लिए भी स्टूडेंट्स अप्लाई कर सकते हैं।

एमबीए प्रोग्राम में 21 कोर्सेज और पीजी डिप्लोमा इन मैनेजमेंट एडमिनिस्ट्रेशन में 11 कोर्सेज होते हैं। एमबीए में 5 स्पेशलाइजेशन कोर्स, दो कंपल्सरी और 1 इलेक्टिव कोर्स शामिल हैं। यूनिवर्सिटी इस प्रोग्राम में एक प्रोजेक्ट कोर्स भी रखती है, जिसे दो कोर्स के बराबर माना जाता है। एमबीए के एक कोर्स के लिए फीस 3000 रुपये और बाकी के लिए फीस 1500 रुपये हैं। सभी मैनेजमेंट प्रोग्राम में ऐडमिशन के लिए क्वॉलिफाइंग एग्जाम में मिनिमम 50% मार्क्स ( रिजर्व्ड कैटिगरी 45%) जरूरी है। उम्र की कोई सीमा नहीं है।

अगला ओपनमैट 5 फरवरी 2017 को होगा, जिसके लिए स्टूडेंट्स को 15 दिसंबर 2016 तक ओपनमैट फॉर्म भरने होंगे। ओपनमैट स्कोर के आधार पर यूनिवर्सिटी ऐडमिशन लेती है। यह स्कोर साल के दो सेशन में ऐडमिशन लेने के लिए वैलिड होगा, जिनमें सेमेस्टर जुलाई 2017 और सेमेस्टर जनवरी 2018 शामिल हैं। जुलाई के लिए ऐप्लिकेशन फॉर्म 31 मई तक भरे जा सकते हैं, वहीं जनवरी 2018 के लिए फॉर्म 30 नवंबर 2017 तक भरे जाएंगे। हालांकि इनके लिए अलग से ओपनमैट फॉर्म 15 दिसंबर 2016 तक भरने होंगे।

ओपनमैट एग्जाम के 6 से 7 हफ्ते में यूनिवर्सिटी रिजल्ट जारी कर स्टूडेंट्स को स्कोर भेज देती है। रिजल्ट ऑनलाइन वेबसाइट पर भी जारी हो जाएगा। जो स्टूडेंट्स यह टेस्ट क्वॉलिफाई कर लेंगे, वे ऐडमिशन फॉर्म भरेंगे। स्टूडेंट्स को दो सेमेस्टर में से एक चुनने की छूट मिलेगी। अगस्त ओपनमैट के एग्जाम क्रैक करने वाले स्टूडेंट्स जनवरी या जुलाई का सेशन चुन सकते हैं।

=>
=>
LIVE TV