शुक्रवार , जुलाई 20 2018

बीएचयू में छात्रों के बीच हुआ गोरिल्ला युद्ध, फेंके गए पेट्रोल बम

 

रिपोर्ट-अमित  सिंह

वाराणसी। बीती देर रात बीएचयू के बिड़ला और एलबीएस छात्रवासों के छात्रों के बीच हुए गोरिल्ला युद्ध मे पेट्रोल बम चला था और कुछ सुरक्षाकर्मियों को चोटें भी आई थी। इस पूरे मामले में कार्रवाई करते हुए बीएचयू प्रशासन ने जांच टीम भी गठित कर दिया है। एहतियातन दोनों होस्टलों पर भारी फोर्स तैनात कर दिया गया है।

बीएचयू

इस बारे में यूनिवर्सिटी के चीफ प्रॉक्टर रॉयना सिंह का कहना है कि यह मामला बहुत गंभीर है क्योंकि लगातार कैंपस में एक के बाद एक नए विवाद सामने आ रहे हैं। पिछले जितने भी मामले थे उनको खत्म करने के लिए छात्रों से बात भी पूरी की जा चुकी है। उसमें छात्र संतुष्ट भी हैं लेकिन अब नए मामले क्यों सामने आ रहे हैं और छात्र ऐसा क्यों कर रहे हैं इसके लिए छात्रों की काउंसलिंग की जाएगी। जिन छात्रों को भी कोई परेशानी या दिक्कत है यूनिवर्सिटी प्रशासन उनसे अलग से बातचीत करेगा और उनकी पूरी काउंसलिंग कर घटना की तह तक जाने की कोशिश होगी।

यह भी पढ़: जेल में बंद मुस्लिम युवक हर मंगलवार को करवाता है सुन्दरकाण्ड के पाठ का आयोजन

चीफ प्रॉक्टर ने कहा कि अचानक से यूनिवर्सिटी में पेट्रोल बम कहां से आए इस मामले की भी जांच की जा रही है। उन्होंने पिछली घटनाओं में बाहरी तत्वों के होने की बात तो कबूली है लेकिन वर्तमान में हुई घटना के बाबत BHU प्रशासन की तरफ से जांच कमेटी गठित कर इस पूरे प्रकरण की जांच की बात कही है।

प्रोफेसर रॉयना सिंह ने बताया कि इस मामले में प्रशासनिक पुलिस और BHU प्रशासन के साथ आज संयुक्त बैठक की गई है। जिसमें पूरे प्रकरण को गंभीरता से लेते हुए एक कमेटी को जांच की जिम्मेदारी सौंपी गई है। यह टीम जल्द से जल्द अपनी रिपोर्ट वाइस चांसलर और प्रशासन को देगी और जो भी लोग इस में दोषी पाए जाएंगे उन पर सख्त से सख्त कार्रवाई होगी

यह भी पढ़े: भाजपा नेताओं में मुगलों जैसा अहंकार- मनीष सिसोदिया

दरअसल 3 दिन पहले बीएचयू के दोनों ही हॉस्टलों एलबीएस और बिड़ला के छात्रों में मारपीट और चाकूबाजी तक की नौबत आ गई थी। जिसके ठीक बाद भारी संख्या में दोनों ही होस्टलों के बाहर भारी फोर्स तैनात कर दी गई थी। लेकिन कल रात फोर्स कम होते ही छात्र फिर से फिर से आपस मे भीड़ गए और पथराव के साथ पेट्रोल बम भी चला था।

=>
LIVE TV