रेल हादसे की बाद उठी रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव के इस्तीफे की मांग, हमलावर हुआ विपक्ष

भीषण रेल हादसे के बाद रेल मंत्री अश्विनो वैष्णव के इस्तीफे की मांग तेज़ हो गई हैं। बता दिन की भीषण ट्रैन हादसे में 200 से भी ऊपर लोगों को जान गावनि पड़ी है जबकि 900 लोग घायल हो गए हैं जिन्हे अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने शुक्रवार को पड़ोसी राज्य ओडिशा में हुए भीषण तिहरे रेल हादसे को लेकर रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव के इस्तीफे की मांग की। टीएमसी के राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बनर्जी ने आरोप लगाया कि केंद्र ऐसे हादसों को रोकने के लिए ट्रेनों में टक्कर रोधी उपकरणों की स्थापना की उपेक्षा करते हुए विपक्षी नेताओं की जासूसी करने के लिए सॉफ्टवेयर पर करोड़ों रुपये खर्च कर रहा है। उन्होंने कहा कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार “जनता को गुमराह” करके राजनीतिक समर्थन हासिल करने के लिए वंदे भारत ट्रेनों और नवनिर्मित रेलवे स्टेशनों का डींग हांक रही है।

बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता समिक भट्टाचार्य ने कहा, “जब ममता बनर्जी रेल मंत्री थीं, तब भी रेल दुर्घटनाएं हुईं, क्या उन्होंने इस्तीफा दिया? जवाब नहीं है। टीएमसी को एक दुखद दुर्घटना का राजनीतिकरण करना बंद करना चाहिए।”

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर भी लोग भीषण रेल हादसे के बाद रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं। लोग लाल बहादुर शास्त्री और नीतीश कुमार का उद्धरण देकर रेल मंत्री के इस्तीफे की मांग कर रहे है। बता दें की दोनों नेताओं ने रेल मंत्री रहते हुए हादसों के बाद अपने पदों से इस्तीफा दे दिया था।