Coronavirus Lucknow News 24 घंटे में शहर में सर्वाधिक मरीज 27 हजार के पार हुई संख्या

Coronavirus Lucknow News: उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस प्रकोप चरम पर पहुंच गया है। राजधानी लखनऊ में अफसर वायरस की चेन ब्रेक करने में नाकाम साबित हो रहे हैं। केजीएमयू के डॉक्टर और स्टाफ लगातार संक्रमण की चपेट में आ रहे हैं। अफसर वायरस को रोकने के बजाय पॉजिटिव कर्मियों की संख्या छिपाने में लगे हैं। सोमवार को 32 नए केस कोरोना वायरस को पाए गए। बता दें, बीते दिन रविवार को सपा एमएलसी समेत 999 लोगों में वायरस की पुष्टि हुई है। शहर में 24 घंटे में सर्वाधिक केस रहे। वहीं, अस्पतालों में 16 मरीजों की मौत हो गई। वहीं, केजीएमयू के 18 डॉक्टर भी कोरोना की गिरफ्त में हैं। 

शहर में शनिवार को 4213 संदिग्ध मरीजों के सैंपल संग्रह किए गए। लैब में रविवार को 999 में कोरोना की पुष्टि हुई है। लखनऊ में एक दिन में मरीजों की यह सर्वाधिक संख्या रही। अभी तक 11 अगसत को 831 मरीज सबसे ज्यादा रहे। इस दौरान सपा एमएलसी आनंद भदौरिया व उनकी पत्नी भी एंटीजेन किट टेस्ट में पॉजिटिव आई हैं। उनका आरटीपीसीआर टेस्ट के लिए सैंपल केजीएमयू भेजा गया है। एमएलसी ने खुद सोशल मीडिया पर सं क्रमित होने की जानकारी दी। शहर में अब संक्रमितों की संख्या 27 हजार,619 पहुंच गया है। इसमें सिर्फ अगस्त में ही 19 हजार 562 में वायरस की पुष्टि हुई है।

दवा व्यवसाई समेत शहर में आठ की मौत

राजधानी में रविवार को 16 कोरोना मरीजों की मौत हुईं। इसमें लखनऊ निवासी आठ मरीजों की सांसें थम गई। अमीनाबाद के दवा व्यवसाई की निजी मेडिकल कॉलेज में मौत हुई है। एक जानकीपुर निवासी 37 वर्षीय महिला, काकोरी निवासी 32 वर्षीय पुरुष, गुडंबा निवासी 32 वर्षीय पुरुष, बालागंज निवासी 49 वर्षीय पुरुष समेत आठ शहरवासियों की इलाज के दरम्यान सांसें थम गई हैं। इसके अलावा रायबरेली के एक, हरदोई के एक, शाहजहांपुर के एक, लखीमपुर के एक, आजमगढ़ के दो, बस्ती के एक, गोरखपुर के एक मरीज की कोरोना से मौत हुई है।

केजीएमयू के 18 डॉक्टर कोरोना की गिरफ्त में 

केजीएमयू में स्थाई व अस्थाई दस हजार कर्मी हैं, वहीं हजारों की तादाद में डॉक्टर व छात्र हैा।  यहां इंफेक्शन कंट्रोल कमेटी आराम फरमा रही है। पिछले 24 घंटे में 18 डॉक्टरों में वायरस की पुष्टि हुई है। यह चिकित्सक क्वीनमेरी, ट्राएज एरिया, आइडीएच  वार्ड, फॉरेंसिक मेडिसिन, सर्जिकल आंकोलॉजी समेत कई विभागों में तैनात हैं।  12 कर्मचारी भी वायरस की चेपट में आए हैं।  ड्यूटी कर रही एक नर्स भी पॉजिटिव आ गई।  आरोप है कि आउट सोर्सिंग पर तैनात नर्स को रात में ही क्वारंटाइन सेंटर से बाहर जाने का फरमान सुना दिया। दो दिन पहले ही घ्टना सोशल मीडिया पर बयां कीं। ऐसे में आउट सोर्सिंग कर्मचारी संघ के अध्यक्ष रीतेश मल्ल ने घटना पर नाराजगी जताई। संस्थान के प्रवक्ता डॉ. सुधीर सिंह ने डॉक्टर -स्टाफ में कोरोना की जानकारी से इन्कार किया है।

स्वास्थ्य भवन का15 स्टाफ संक्रमित

स्वास्थ्य भवन के कर्मी लगातार कोरोना की चपेट में आ रहे हैं। 28 अगस्त को 73 कर्मचारियों के नमूने लिए गए। रविवार को 15 कर्मचारी पॉजिटिव मिले। अब तक 50 से ज्यादा कर्मचारियों में संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। शेष कर्मचारियों की टेस्टिंग  जारी है। वहीं, स्टाफ ने ड्यूटी रोस्टर को ठीक से लागू करने की मांग की। रविवार को 587 मरीजों की बीमारी से जंग जीती।

यहां वायरस का प्रकोप

इंदिरा नगर में 48, ठाकुरगंज में 27, तालकटोरा में 36, हसनगंज में 21, गोमतीनगर में 45, महानगर में 38, हजरतगंज में 32, मड़ियांव में 26, रायबरेली रोड के 41,चौक में 33, जानकीपुरम में 37, विकासनगर में 27, सआदतगंज में 13, गुडम्बा में 17, कृष्णानगर में 14, कैंट में 44, आलमबाग में 41, नाका में 18, अलीगंज में 37, काकोरी में 15, हुसैनगंज में 14, सरोजनीनगर में 12, चिनहट में 18 रोगी पॉजिटिव पाए गए हैं।

=>
LIVE TV