सेवा संस्थानों पर टेढ़ी हुई प्रशासन की नजर, लगातार चल रही छापेमारी

रिपोर्ट पंकज

गोरखपुर| देवरिया में माँ विन्ध्वासिनी सेवा संस्थान द्वारा संचालित बालिका गृह के मामले को गंभीरता से लेते हुए गोरखपुर का जिला प्रशासन भी सतर्क हो गया है। आज जिलाधिकारी और एसएसपी के नेतृत्व में माँ विन्ध्वासिनी प्रशिक्षण संस्थान द्वारा गोरखपुर के कैंट इलाके के चाणक्यपुरी कालोनी में  संचालित वृद्धा आश्रम में छापा मारा।

gorakhpur

जहाँ पुलिस को एक आज एक युवती भी मिली। इस सम्बन्ध में अपर जिलाधिकारी प्रभुनाथ ने बताया की बीती रात भी हम लोगो ने यहाँ छापेमारी की थी लेकिन यहाँ केवल 4 वृद्ध महिलायें ही मिली थी।

जिन्हें सरकारी अनुदान के तहत संचालित वृद्धा आश्रम भेज दिया गया ।आज जब दोबारा छापेमारी की गई है तो यहाँ से एक युवती भी बरामद हुई है जो देवरिया से लापता थी।

यह भी पढ़ें: CM योगी ने देवरिया कांड की जांच सीबीआई को सौंपी, पिछली सरकारों को ठहराया जिम्मेदार

उन्होंने कहा की इस मामले में आश्रम की संचालिका गिरिजा देवी की पुत्री कनकलता समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है। साथ ही बरामद लड़की से पूछताछ की जा रही है। इतना ही नहीं पूरे आश्रम को सील किया जा रहा है।

उन्होंने बताया की इस आश्रम की मान्यता भी स्थगित कर दी गई है। अब ये देखना है कि इन सेवा संस्थानों के नाम पर हो रहे गोरखधंधे आखिर कब रुक पाएंगे और प्रशासन कब तक इस पर पूरी तरह लगाम लगा पायेगा।

=>
LIVE TV