breast sagging: बिना सर्जरी इस समस्या से छुटकारा पाने के आसान उपाय

breast-sagging-problem-56f8de92cfee0_lएजेन्सी/स्तनों का ढीलापन पर्सनेलिटी को बिगाड़ता है, वहीं सेहत के लिहाज से भी ये सही नहीं होता। ब्रेस्ट सैगिंग से बचने के लिए रखें इन आसान सी बातों का ध्यान…

1- अपना बॉडी मास इंडेक्स 23 से कम ही बनाकर रखें। क्योंकि रजोनिवृत्ति के बाद शरीर के वजन के बढऩे से ब्रेस्ट कैंसर का जोखिम काफी बढ़ जाता है। इसलिए वजन पर कंट्रोल रखें। डायटिंग न करें। एक्टिव लाइफस्टाइल को अपनाएं और रोज कम से कम 30 के लिए व्यायाम करें। आप एरोबिक एक्सरसाइज कर सकती हैं। इससे स्तनों का आकार भी ठीक रहता है।

2- शराब का सेवन स्तन कैंसर के सबसे बढ़े आहार जोखिम कारक में से एक है। महिलाएं जो दिन में दो ग्लास से अधिक एल्कोहॉल का सेवन करती हैं, उन्हें स्तन कैंसर का जोखिम सबसे अधिक होता है। धूम्रपान के कारण ब्रेस्ट ढीले पड़ जाते हैं। शोधकर्ताओं के मुताबिक धूम्रपान की वजह से ब्रेस्ट में पाए जाने वाला इलास्टिन नामक प्रोटीन कमजोर हो जाता है। यह प्रोटीन ब्रेस्ट को सही आकार में रखता है।

3- सही ब्रा का चयन करें। खासतौर पर एक्सरसाइज करते समय स्पोर्ट ब्रा पहनें। सैगिंग से बचने के लिए टाइट कपड़े बिलकुल न पहनें। बस ब्रा सही नाप की होनी चाहिए। इसके अलावा मसाज भी कर सकती हैं।

4- स्तनों को सैगिंग से बचाने का एक और तरीका है कि वेट ट्रेनिंग करें। कुछ एक्सरसाइज ऐसी होती हैं, जो ब्रेस्ट में कसाव लाती हैं।

5- इसके अलावा रोजाना लहसुन खाने से स्तनों का ढीलापन दूर हो जाता है और स्तनों में कसाव आता है।

=>
LIVE TV