अब इंटरनेट दौड़ेगा नहीं उड़ेगा, ये नेटवर्क कनेक्शन देगा एक सेकेण्ड में 105GB स्पीड

5G मोबाइलतोक्यो। जापान के वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि उन्‍होंने एक ऐसा सिस्टम तैयार किया है जो 5G मोबाइल नेटवर्क्स की तुलना में 10 गुना ज्यादा तेजी से डेटा ट्रांसमिट करने में सक्षम है। इससे न सिर्फ डाउनलोडिंग की स्पीड बढ़ेगी बल्कि इन-फ्लाइट नेटवर्क कनेक्शंस की स्पीड में भी तेजी आएगी।

हिरोशिमा यूनिवर्सिटी और नैशनल इंस्टिट्यूट ऑफ इन्फर्मेशन ऐंड कम्यूनिकेशंस टेक्नॉलजी ने टेराहर्ट्स (THz) ट्रांसमिटर बनाने की जानकारी देते हुए बताया कि यह सिंगल चैनल पर 300 गीगाहर्ट्स बैंड को इस्तेमाल करते हुए एक सेकंड में 100 गीगाबिट्स के रेट पर डिजिटल डेटा ट्रांसमिट करता है।

THz बैंड नया है और भविष्य में अल्ट्राहाई-स्पीड वायरलेस कम्यूनिकेशंस में इस्तेमाल किया जाएगा। रिसर्च ग्रुप का बनाया एक ट्रांसमिटर 290GHz से 315GHz फ्रिक्वेंसी रेंज पर 105 गीगाबिट्स प्रति सेकंड की स्पीड से ट्रांसमिशन करना अब मुमकिन है।

पिछले साल ग्रुप ने दावा किया था कि 300 GHz पर एक वायरलेस लिंक की स्पीड को QAM (quadrature amplitude modulation) की मदद से बड़े पैमाने पर बढ़ाया जा सकता है। इस साल उन्होंने प्रति चैनल 6 गुना ज्यादा डेटा रेट करके दिखाया है। ऐसा पहली बार हुआ है जब IC आधारित ट्रांसमिटर से 100 गीगाबिट्स प्रति सेकंड की रफ्तार पर डेटा एक्सचेंज मुमकिन हुआ है।

हिरोशिमा यूनिवर्सिटी के मी नोर फुजिशिमा का कहना है कि फिलहाल हम वायरलेस डेटा के बारे में मेगाबिट्स प्रति सेकंड या गीगाबिट्स प्रति सेकंड में ही बात करते हैं, मगर आने वाले समय में टेराबिट्स प्रति सेकंड की स्पीड प्राप्त की जा सकेगी।

LIVE TV