23 सितंबर को राहु कर रहा है राशि परिवर्तन, जानें सभी राशियों पर क्या होगा इसका प्रभाव

साल 2020 में 23 सितंबर को सुबह के 08 बजकर 20 मिनट पर राहु मिथुन राशि की यात्रा समाप्त करके वक्र गति से चलते हुए वृष राशि में गोचर करेगा। राहु 12 अप्रैल 2022 तक इसी राशि में रहेगा। इसका प्रभाव सभी राशियों पर पड़ेगा। आपको बता दें, यह गोचर वृष व वृश्चिक राशि के लिए थोड़े संघर्ष के बाद सफलता का है। आइए जाने हैं राशियों पर इसका प्रभाव:-

मेष राशि के जातकों के लिए राहु व्यवसाय में महत्वाकांक्षी योजनाओं को विस्तार देगा। हेल्थ की स्थितियां थोड़ी प्रतिकूल हो जाएंगी। इसे साथ ही इस राशि के जातकों को जॉब परिवर्तन में सफलता मिलेगी। इतना ही नहीं, मेष राशि के जातक व्यवसाय परिवर्तन में सफल हो सकते हैं। आपके लिए लाल और सफेद रंग शुभ है।

उपाय: हर रविवार गेहूं और गुड़ का दान करें। बुधवार को बहते जल में नारियल प्रवाहित करें।

वृष राशि के जातकों को नौकरी में सुखद परिवर्तन का प्रस्ताव मिलेगा। आप अपने स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहें। इसके साथ ही हर मंगलवार को सुंदरकांड का पाठ करें। शुक्रवार और बुधवार को अन्न का दान करें। आपका शुभरंग है नीला और हरा। राजनीति से सम्बंध‍ित जातकों को लाभ मिलेगा।

मिथुन राशि के जातकों के लिए राहु का गोचर संकेत करता है कि आपको अपने स्वास्थ्य के प्रति बहुत सचेत रहना होगा। अगर आप नौकरी में परिवर्तन करना चाहते हैं तो यह समय आपके लिए शुभ अवसर प्रदान करेगा। मिथुन राशि के जातकों के लिए हरा रंग शुभ है। हर बुधवार को हरे वस्त्र और रविवार को गुड़ का दान करें। धन आगमन होगा।

कर्क राशि के जातकों के कार्यों में बाधाएं आ सकती हैं। व्यवसाय में सुंदर अवसर की प्राप्ति का समय है। इस राशि के छात्रों के लिए यह शुभ समय है। आपका शुभरंग है सफेद। राजनीतिज्ञों के लिए भी यह समय बहुत ही अनुकूल है। नौकरी में प्रमोशन का प्रयास करें। स्वास्थ्य बेहतर रहेगा। हर दिन अन्न का दान करें और इसके साथ ही भगवान शिव की उपासना करें।

सिंह राशि के जातक अपना आत्मबल कम न होने दें। नौकरी को लेकर आपके मन में चल रहा द्वंद समाप्त होगा। राजनीति में सुंदर अवसरों की प्राप्ति करेंगे। इसके साथ ही सिंह राशि के जातकों की आर्थिक स्थिति बेहतर होगी। आपका शुभरंग है नीला और सफेद।
प्रतिदिन श्री सूक्त का पाठ करें। इस राशि के जातकों के लिए उनके परिवार और दोस्तों का सहयोग साथ है। बुधवार को गाय को पालक और चने की दाल खिलाएं।

यह भी पढ़ें : सुविचार : जानें सफल जीवन जीने के लिए क्या है ज़रूरी

कन्या रशि के जातकों को राहु व्यवसाय में आशातीत सफलता देगा। आपका स्वास्थ्य भी बेहतर होगा। इस राशि के जातक अगर घर बनवाना चाहते हैं तो घर घर बनवाने का कार्य शुरू हो सकता है। किसी व्यक्ति से नए राजनैतिक संबन्ध बन सकते हैं। आपका शुभरंग है हरा। नौकरी में सफलता मिलने के योग हैं। राहु के द्रव्य दान करने से बाधाएं समाप्त होंगी। आप हर दिन भैरो उपासना करें।

तुला राशि के जातकों को व्यवसाय में लाभ की संभावना रहेगी। घर बनने संबंधित कार्य को शुरू कर सकते हैं, इसके लिए यह समय शुभ है। आपके घर पर ही धार्मिक कार्य होंगे। आपका शुभ रंग है हरा। हर दिन सुबह-सबह पूजा करने के बाद चावल और गुण का दान करने से पुण्य की प्राप्ति होगी।

वृश्चिक राशि के जातकों को यश और प्रतिष्ठा की प्राप्ति होगी। नौकरी परिवर्तन का ख्याल आ सकता है, जो कि भविष्य के लिए बेहतर रहेगा। व्यवसाय में भी सफलता है। आपका शुभरंग है लाल। हर बुधवार को मूंग का दान करें। इसके साथ ही हर दिन सुंदरकांड का पाठ करें।

धनु राशि के जातकों के लिए राहु का राशि परिवर्तन बहुत ही सुखद रहेगा। आपके लिए यह समय व्यवसाय में सफलताओं और जॉब में प्रगति का है। आपका स्वास्थ्य पहले से बेहतर होगा। इसके साथ ही आपके ससुराल पक्ष की मदद से कोई रुका सरकारी कार्य पूरा होगा। धन आएगा। आपका शुभरंग लाल है। राजनीतिज्ञों के लिए यह परिवर्तन बहुत ही शुभ अवसरों वाला है। स्वास्थ्य सुख के लिए बजरंगबाण का नियमित रूप से पाठ करें।

मकर राशि के जातकों के लिए सूर्य और बुध राजनीति में सफलता देंगे। स्वास्थ्य के प्रति एलर्ट रहना होगा। आय प्राप्ति के नए स्रोत बन सकते हैं। आपका शुभरंग सफेद है। हर शनिवार को तिल का दान करें तथा हनुमानबाहुक का पाठ करें।

कुम्भ राशि के जातकों के लिए राहु का यह परिवर्तन मिश्रित फलदायी है। आप एक ऐसे मिशन पर कार्य आरंभ करेंगे जो आपका ड्रीम रह चुका है। व्यावसायिक योजनाएं सफलता की तरफ मुड़ेंगी। आपका शुभरंग है हरा। कुंभ राशि के जातक हर शनिवार और बुधवार को तिल का दान करें।

मीन राशि के जो जातक राजनीति से जुड़े हैं, उनके लिए यह समय बहत शुभ है। व्यवसाय के लिए तनाव का समय है। आपको अपने व्यवसाय में दोस्तों की मदद मिल सकती है, जिससे नए अवसरों की प्राप्ति होगी। आपका शुभरंग नीला है। हर बुधवार को मूंग का दान करें। यह गोचर प्रोन्नति का अवसर प्रदान करता है। हर दिन भगवान गणेश की उपासना करें। बुधवार को उड़द का दान पुण्यदायी है।

=>
LIVE TV