स्टिंग वाले पत्रकार से मिले थे रावत

Hदेहरादून। हरीश रावत ने एक प्रकार से कथित स्टिंग सीडी प्रकरण को स्वीकार कर लिया है। उन्होंने कहा कि उनकी स्टिंग बनाने का दावा करने वाले पत्रकार से जौलीग्रांट में मुलाकात हुई थी। उन्होंने कहा कि सीडी में जो दिखाया जा रहा है वह फरेब है। यहां तक कि सीडी में कहीं यह नहीं कहा गया कि विधायक चाहिए। उन्होंने कहा कि वे पहले भी उक्त पत्रकार से मिल चुके हैं। यदि कोई पत्रकार मिलने की बात पर चुपचाप कैमरा ऑन कर कुछ अनर्गल बात बोलता जा रहा है तो उसमें क्या कहा जा सकता है। मैने कभी पैसे की बात नहीं की। बीजापुर स्थित राज्य अतिथि गृह में पत्रकारों से बातचीत करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि वे जब रेशम माजरी के दौरे पर थे उस दिन उनकी मुलाकात स्टिंग का दावा करने वाले पत्रकार से हुई थी। हरीश रावत ने इस बात को भी स्पष्ट किया कि उन्होंने कभी यह नहीं स्वीकारा कि वह उक्त सीडी में है। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि इस पूरे र्पकरण में शराब माफियाओं का पैसा लगा है। विजयवर्गीय व उत्तराखंड में उनके दो शार्गिद साकेत व भूपेश उपाध्याय की भी इसमें भूमिका है। उन्होंने कहा कि सीबीआई पूरी सीडी की जांच करे न कि केवल चुनिंदा तथ्यों की। (हिफी)

=>
LIVE TV