हाईकोर्ट में बबीता फोगाट ने दी याचिका , गीता फोगाट से ज्यादा मेरे मेडल फिर मैं एसआई क्यों

नई दिल्ली : इंटरनेशनल पहलवान बबीता फोगाट हाईकोर्ट पहुंच गई हैं। जहां उन्होंने याचिका दायर करके सवाल उठाए कि डीएसपी गीता फोगाट से ज्यादा मेडल मेरे हैं, फिर मैं अभी तक एसआई क्यों हूं?

बबिता

वही बबीता फौगाट ने छह साल से प्रमोशन न होने पर सरकार के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका दायर की है। जहां याचिका में सवाल उठाया गया है कि गीता फोगाट डीएसपी हैं, लेकिन बहन से ज्यादा मेडल जीतने के बावजूद एसआई पद से बबीता का प्रमोशन नहीं हो रहा है। और साथ ही अब हाईकोर्ट में याचिका दायर करके बबीता ने प्रमोशन की मांग की है। जहां इस मामले में सरकार को 9 मई तक जवाब दाखिल करना है।

जानिए सोने से पहले क्या सोचती है लड़किया , जरूर जाने लड़के

बता दें की चरखी दादरी जिले के गांव बलाली की बबीता फोगाट ने 2010 के कॉमनवेल्थ गेम्स में सिल्वर मेडल जीता था। इस उपलब्धि के आधार पर सरकार ने बबीता को 2013 में हरियाणा पुलिस में एसआई बनाया था।

इस समय बबीता मधुबन में तैनात हैं, लेकिन छह साल की नौकरी होने के बावजूद उन्होंने प्रमोशन नहीं मिला है। जबकि एसआई बनने के बाद भी वह देश के लिए लगातार मेडल जीत रही हैं।

वही बबीता का कहना है की उन्होंने प्रमोशन के लिए दो आधार बनाए हैं। इनमें एक उनकी अभी तक की सभी उपलब्धियां और दूसरा, बहन गीता फोगाट से ज्यादा उनके मेडल। जब उनके पास गीता से ज्यादा मेडल हैं, तो वह एसआई के पद पर क्यों रहे, सरकार उसे प्रमोशन क्यों नहीं दे रही है। गौरतलब है कि गीता फोगाट के हाईकोर्ट जाने पर ही सरकार ने उन्हें प्रमोट करके डीएसपी बनाया था, और अब बबीता भी प्रमोशन के लिए हाईकोर्ट पहुंच गई है।

बबीता फोगाट की अब तक की उपलब्धियां –

दरअसल बबीता ने 2010 कॉमनवेल्थ गेम्स में पहला सिल्वर मेडल जीता था। उसके बाद कॉमनवेल्थ गेम्स2014 में गोल्ड मेडल और 2018 में सिल्वर मेडल जीता। कॉमनवेल्थ चैंपियनशिप 2009 व 2011 में गोल्ड मेडल जीते, तो वर्ल्ड चैंपियनशिप 2012 में सिल्वर मेडल जीता।

एशियन चैंपियनशिप 2013 में भी ब्रांज मेडल जीता और 2016 में रियो ओलंपिक में देश का प्रतिनिधित्व किया।गीता फोगाट ने कॉमनवेल्थ गेम्स 2010 में गोल्ड मेडल जीता। कॉमनवेल्थ चैंपियनशिप 2009 व 2011 में गोल्ड और 2013 में एक सिल्वर मेडल जीता है। वर्ल्ड चैंपियनशिप 2012 में एक ब्रांज व एशियन चैंपियनशिप 2012 व 2015 में ब्रांज मेडल जीते हैं।

=>
LIVE TV