सेहत बनाए रखने में नाशपाती की भूमिका

pearएजेंसी/गर्मी का मौसम आते ही लोग बीमार पड़ने लगते हैं. वायरल बुखार का रोग सबसे अधिक परेशान करता है. इस मौसनम में लोगों को अपने खान-पान  के मामले में ज्यादा सतर्कता बरतनी चाहिए. सेहत बनाए रखने में नाशपाती की महत्वपूर्ण भूमिका होती है. इसके सेवन से कई बीमारियों से निजात पाने में मदद मिल सकती है. इसमें कई तरह के औषधीय गुण पाए जाते हैं. इसमें विटामिन,एन्जईम और पानी में घुलनशील फाईबर प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं.

नियमित रूप से नाशपती का रस पीने से आँतों के विकार दूर करने में  मदद मिलती है. विषाक्त पदार्थों और रसायनों  की वजह से बड़ी आंत की कोशिकाओं को होने वाले नुकसान से निपटने में नाशपती की अहम भूमिका हो सकती है. नाशपती का जूस 100 मिली दिन में दो बार पीने से गले की खराश  और कफ की समस्या  ठीक हो जाती है.

इसे खाने से शरीर का ग्लूकोज ऊर्जा में बदल जाता है| अत; जब भी थकावट महसूस हो नाशपती का जूस पियें. नाशपती का जूस बुखार के रोगियों में तापमान कम कर राहत पहुंचाता है. नाशपाती में प्रचुर फाईबर होता है जिससे शरीर का कोलेस्ट्रोल कम होता है. नाशपाती जैसे  रेशे समृद्ध फल नियमित खाने से हार्ट -स्ट्रोक की रिस्क 50 प्रतिशत तक कम हो जाती है. नाशपती के नियमित उपयोग से छाती के केंसर की संभावना 34 प्रतिशत तक कम हो जाती है. इसलिए नाशपती का फ़ल खूब खाएं.

=>
LIVE TV