सेहत के लिए ‘गुणों की खान’ है करेला, इन बीमारियों से रखता हैं कोसो दूर

 करेले का नाम सुनते ही अधिकतर लोग नाक-मुंह सिकोड़ने लगते हैं, क्योंकि यह स्वाद में कड़वा होता है। हालांकि कई लोगों को इसकी सब्जी बेहद पसंद आती है, चाहे उसे सिर्फ हल्दी और नमक के साथ भून दिया गया हो या फिर मसालेदार सब्जी बनाई गई हो। अब यह स्वाद में भले ही कड़वा हो, लेकिन इसके फायदे अनेक हैं। तभी तो कई लोग करेले का जूस भी बड़े चाव से पीते हैं। यह कई बीमारियों को दूर भगाता है। आइए जानते हैं कि आखिर करेले को ‘गुणों की खान’ क्यों कहा जाता है और इसके सेवन से कौन-कौन सी समस्याओं से राहत मिलती है?

 दरअसल, करेला एंटीबायोटिक और एंटीवायरल गुणों से भरपूर होता है। इसमें विटामिन-सी और विटामिन-ए भी पाए जाते हैं। विटामिन-सी हमारे शरीर के रोग प्रतिरोधक क्षमता (इम्यूनिटी) बढ़ाने में सहायक है जबकि विटामिन-ए आंखों की रोशनी को बरकरार रखता है। इन्ही गुणों की वजह से करेले को ‘गुणों की खान’ कहा जाता है। 

– करेले के सेवन से पेट से लेकर दिमाग तक शरीर के हर अंग को फिट रखा जा सकता है। यह दिल की धड़कनों के लिए भी लाभकारी है। सिर दर्द या सिर में भारीपन जैसी समस्या को भी दूर भगाने में यह सहायक है। उचित मात्रा में इसका सेवन इन सभी समस्याओं से निजात दिला सकता है। 

– करेले का सेवन उन लोगों को नियमित रूप से करना चाहिए, जो जोड़ों के दर्द, खासकर घुटने के दर्द से परेशान हैं। यह इस समस्या से निजात दिला सकता है। 

– करेले का सेवन पेट के लिए बहुत ही फायदेमंद है। नियमित तौर पर इसके सेवन से बार-बार पेट खराब होना, पेट अफरना, गैस, बदहजमी, खट्टी डकार, पेट में कीड़े और मितली आने जैसी समस्याओं से निजात पाया जा सकता है। 

– अगर आपको चोट लगने के कारण शरीर में कहीं घाव हो गया है तो आप नियमित तौर पर करेले का सेवन करें। इससे घाव को जल्दी भरने में मदद मिलेगी और साथ ही उस जगह पर इन्फेक्शन होने का खतरा भी कम हो जाएगा। 

– मुंह में छाले होने की समस्या अक्सर पेट की गर्मी या फिर कब्ज की वजह से ही होती है। ऐसे में नियमित तौर पर करेले का सेवन इस समस्या से छुटकारा दिला सकता है। 

=>
LIVE TV