सुपरवाइजर की प्रताड़ना से परेशान आंगनवाड़ी कार्यकर्ता ने जहर गटका

poison-sucide_57231e1297c14एजेंसी/  धार/इंदौर. महिला एवं बाल विकास विभाग की सुपरवाइजर की प्रतडना से तंग आकर आंगनवाड़ी कार्यकर्ता ने खुद की जीवन लीला समाप्त करने की ठान ली. मानसिक रूप से बेहद परेशान होकर उसने जहर गटक लिया. पीड़ित महिला को उसके परिजन शहर के एक निजी अस्पताल ले गए जहां उसने गुरुवार को होश आने पर उसे बयान दिए. अब विभागीय स्तर पर मामले की जांच करने के बाद संबंधित सुपरवाइजर पर कार्रवाई की जाएगी.

जानकारी के मुताबिक तिरला ब्लाक के खिड़किया खुर्द की आंगनवाड़ी कार्यकर्ता शारदा पति सीताराम निनामा ने मंगलवार को जहर पीकर खुदखुशी करने का प्रयास किया. उसे गंभीर हालात में महिला को एक निजी हॉस्पिटल में एडमिट किया गया. किसमत से महिला की जान बच गई. बयान में शारदा ने पुलिस को बताया सुपरवाइजर सुलभा राठौर उसे आए दिन नोटिस थमाकर मानसिक रूप से परेशान कर रही थीं.

जब भी वह नोटिस का जवाब देती उस पर अपूर्ण लिखकर दूसरा नोटिस दे देती थी. उसे मिलने वाले मानदेय से भी छुटिट्यों की राशि काटकर लेने को कहा जाता. पिछले दिनों जब वह 6 दिनों की छुट्टी लेकर रामदेवरा गई थी तब उसके मानदेय के 5 हजार में से 2 हजार रु. काटे गए थे. साथ ही आए दिन नौकरी से हटवाने की धमकी भी दी जाती रही है. इस बात से परेशान होकर उसने यह कदम उठाया था.

वही इस मामले पर सुलभा राठौर ने आंगनवाड़ी कार्यकर्ता द्वारा लगाए गए सभी आरापों को निराधार बताया. वही धार की जिला महिला एवं बालविकास अधिकारी नीलू भट्‌ट ने इस मामले पर कहा की विभागीय स्तर पर मामले की जांच कर संबंधित सुपरवाइजर पर कार्रवाई करूंगी.

=>
LIVE TV