सीरीज में बराबरी के मौके के लिए उतरेगी टीम इंडिया, देखिए इस मैच की खासियतें…

नई दिल्ली। बांगलादेश के खिलाफ होने वाले टी20 मैच में टीम इंडिया सीरीज बराबर करने के मूड में उतरेगी। बता दें की पहला मैच हाथ से गवांने के बाद टीम इंडिया पर दबाव भी कायम है।

इससे पहले खेले गए मैच में टीम इंडिया को सात विकेट से हार का सामना करना पड़ा था। बांग्लादेश के लिए एक प्लस प्वाइंट ये भी है कि जो वेतन और अन्य मामलों को लेकर खिलाड़ियों की हड़ताल के बाद यहां आई है साथ ही भारत आने से पहले भ्रष्ट संपर्क की सूचना नहीं देने के लिए टीम के सबसे बड़े खिलाड़ी शाकिब अल हसन को निलंबित कर दिया गया।

भारत को इस साल आस्ट्रेलिया के खिलाफ घरेलू सरजमीं पर हार का सामना करना पड़ा जबकि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टी20 श्रृंखला बराबरी रही। भारत ने टेस्ट क्रिकेट में दक्षिण अफ्रीका का क्लीनस्वीप किया था।

नियमित कप्तान विराट कोहली सहित कुछ सीनियर खिलाड़ियों की गैरमौजूदगी में युवा खिलाड़ियों के पास यह श्रृंखला अपनी क्षमता दिखाने का मौका है।

यह सारी चीजें हालांकि इस पर निर्भर करेंगी कि चक्रवात ‘महा’ का शहर के मौसम पर क्या असर पड़ता है। इस चक्रवातीय तूफान के मैच के दिन गुजरात के तट से टकराने की संभावना है।

श्रृंखला के पहले मैच में हार के बाद कप्तान रोहित शर्मा ने स्वीकार किया था कि भारतीय टीम उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर पाई और डीआरएस पर कुछ गलत फैसलों ने भी इस हार में भूमिका निभाई।

गुरुवार को होने वाले मैच से पहले शिखर धवन की फार्म और स्ट्राइक रेट भी चिंता का विषय है।

भारत अगर बांग्लादेश के खिलाफ श्रृंखला गंवाता है तो उसकी मुश्किलें बढ़ सकती हैं क्योंकि उसकी नजरें अगले साल आस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 विश्व कप के लिए टीम तैयार करने पर टिकी हैं।

दिल्ली के अरूण जेटली स्टेडियम में भारतीय बल्लेबाजों को जूझना पड़ा था। टीम हालांकि वापसी करते हुए 148 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा करने में सफल रही। बांग्लादेश ने अनुभवी बल्लेबाज मुशफिकुर रहीम के नाबाद अर्धशतक की बदौलत आसानी से लक्ष्य हासिल कर लिया था।

पहले मैच में विफल रहे कप्तान रोहित दूसरे मैच में बेहतर प्रदर्शन करने की कोशिश करेंगे।

दिल्ली में 42 गेंद में 41 रन बनाने वाले धवन के स्ट्राइक रेट और फार्म पर सवाल उठे है। पूर्व महान बल्लेबाज और कमेंटेटर सुनील गावस्कर ने कहा कि अगर धवन बाकी दो मैचों में स्वच्छंद होकर बल्लेबाजी नहीं करते हैं तो और अधिक सवाल उठेंगे।

इसके अलावा लोकेश राहुल पर भी दबाव होगा जो टेस्ट टीम में अपनी जगह गंवाने के बाद टी20 एकादश में अपनी जगह पक्की करने की कोशिशों में जुटे हैं।

भारत के युवा खिलाड़ियों से रविवार को काफी उम्मीदें थी लेकिन श्रेयस अय्यर को छोड़कर कोई भी प्रभाव नहीं छोड़ पाया।

ऋषभ पंत, कृणाल पंड्या और पिछले मैच में पदार्पण करने वाले आलराउंडर शिवम दुबे को अपने चयन को सही साबित करते हुए मुश्किल हालात में योगदान देना होगा।

यह देखना होगा कि टीम प्रबंधन दुबे को एक और मौका देता है या केरल के विकेटकीपर बल्लेबाज संजू सैमसन को अंतिम एकादश में शामिल करता है। कर्नाटक के बल्लेबाज मनीष पांडे को भी मौका मिल सकता है।

भारत की अनुभवहीन गेंदबाजी भी टीम प्रबंधन के लिए चिंता का विषय है। तेज गेंदबाज खलील अहमद ने दिल्ली में चार ओवर में 37 रन लुटाए थे और 19वें ओवर में उनकी गेंदों पर विरोधी टीमें ने लगातार चार चौके मारे थे। दूसरे टी20 में उनकी जगह शारदुल ठाकुर को अंतिम एकादश में शामिल किया जा सकता है।

बांग्लादेश के गेंदबाजों विशेषकर स्पिनर अमीनुल इस्लाम और तेज गेंदबाज शफीउल इस्लाम ने पहले मैच में प्रभावित किया और वे इस लय को बरकार रखने की कोशिश करेंगे।

महिला ग्राम विकास अधिकारी का हाईवे पर हाई वोल्टेज ड्रामे का वीडियो हो रहा वायरल

टीमें इस प्रकार हैं:

भारत:

रोहित शर्मा (कप्तान), खलील अहमद, युजवेंद्र चहल, दीपक चाहर, राहुल चाहर, शिखर धवन, शिवम दुबे, श्रेयस अय्यर, मनीष पांडे, कृनाल पंड्या, ऋषभ पंत, लोकेश राहुल, संजू सैमसन, वाशिंगटन सुंदर और शारदुल ठाकुर।

बांग्लादेश:

महमूदुल्लाह रियाद (कप्तान), ताईजुल इस्लाम, मोहम्मद मिथुन, लिटन दास, सौम्य सरकार, नईम शेख, मुशफिकुर रहीम, आफिफ हुसैन, मोसादेक हुसैन सेकत, अमीनुल इस्लाम बिप्लब, अराफात सनी, अबू हिदेर, अल अमीन हुसैन, मुस्तफिजूर रहमान और शफीउल इस्लाम।

=>
LIVE TV