सांप, बिच्छू और मकड़ी के जहर से बनी दवाएं से Cancer का हो रहा इलाज!

l_Snake-Venom--1460711292एजेंसी/सांप, बिच्छू और मकड़ी के जहर से बनी दवाएं दर्द निवारक भी होती हैं। इनसे डायबिटीज भी हो जाएगी कंट्रोल और नपुंसकता का इलाज भी संभव…

सांप, बिच्छू और मकड़ी के जहर से दवाएं बनती हैं, जो मधुमेह, दिल की बीमारी और अल्जाइमर में भी फायदा पहुंचाती हैं। ऑस्ट्रेलिया में पाए जाने वाले एक जहरीले सांप के जहर का इस्तेमाल दिल के दौरा पडऩे वाली दवाओं में किया जाता है। ब्रिटिश शोधकर्ताओं ने एक अध्ययन में पाया है कि सांप के जहर में हानिरहित टॉक्सिन होता है जिसका इस्तेमाल कैंसर, मधुमेह और उच्च रक्तचाप जैसी जानलेवा बीमारियों के इलाज की नई दवाएं विकसित करने में किया जा सकता है।

हैरानी आपको यह जानकर कि बिच्छू का जहर का उपयोग भी दवाओं में किया जाता है। इसका उपयोग दर्द निवारक दवाओं और दिल की बीमारी में किया जाता है।

मकड़ी का इस्तेमाल नपुंसकता दूर करने के लिए किया जा रहा है। मधुमक्खी के डंक से होता है एचआईवी-एड्स और गठिया का इलाज संभव होता है। मरीज के शरीर में मधुमक्खी से कटवाया जाता है। इलाज का ये तरीका 3 हजार साल पुराना है।

यहां तक कि वैज्ञानिकों का दावा है कि सांप के जहर का इस्तेमाल भूलने की बीमारी को दूर करने के लिए किया जा सकता है। जोंक के जहर से भी दर्द निवारक दवाएं बन रही हैं। इसी तरह कोबरा का जहर दवाएं बनाने के काम में लिया जा रहा है।

=>
LIVE TV