मुख्यमंत्री शिवराज के विधानसभा क्षेत्र में किसान ने की आत्महत्या

शिवराज सिंह चौहानसीहोर। मध्यप्रदेश में किसान आत्महत्याओं का सिलसिला थम नहीं रहा है। गुरुवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के विधानसभा क्षेत्र बुदनी के किसान शत्रुघ्न मीणा ने सूदखोर से परेशान होकर जहर खाकर आत्महत्या कर ली। मुख्यमंत्री के गृह जिले सीहोर में 11 दिनों में पांचवें किसान ने आत्महत्या की है। विपक्षी कांग्रेस ने सूदखोर को भाजपा का पदाधिकारी और मुख्यमंत्री का करीबी बताया है।

ग्वाडिया गांव के निवासी शत्रुघ्न (52) ने एक सूदखोर से पांच लाख का कर्ज लिया था। सूदखोर उसे दी गई रकम का दोगुना (10 लाख रुपये) मांग रहा था, इससे किसान परेशान था। तनवग्रस्त किसान ने गुरुवार की सुबह जहर खा लिया। गंभीर हालत में उसे होशंगाबाद के निजी अस्पताल में उपचार के लिए ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई।

बुदनी थाने के प्रभारी आर.एन. शर्मा ने बताया कि शत्रुघ्न ने जहर खाकर आत्महत्या की है, यह बात सही है। मगर कारण पता नहीं चल सका है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा कि किसान शत्रुघ्न को जिस सूदखोर ने कर्ज दिया था, वह भाजपा का नेता है और मुख्यमंत्री चौहान का करीबी।

मुख्यमंत्री चौहान के गृह जिले सीहोर में 11 दिनों में यह पांचवें किसान की आत्महत्या है। इससे पहले दोहरा थाना क्षेत्र के जिमोनिया खुर्द में बंशीलाल (54), जजना गांव में पांच लाख के कर्जदार दुलीचंद्र, नसरुल्लागंज के लाचैर गांव के डेढ़ एकड़ भूमि के किसान मुकेश यादव (23), सिद्दीकीगंज थाना क्षेत्र के बापचा गांव के 75 वर्षीय बुजुर्ग किसान खाजू खां ने बीते दिनों आत्महत्या कर ली।

=>
LIVE TV