वैज्ञानिकों का दिल के मरीजों को तोहफा, अब पेसमेकर बदलने के लिए नहीं होगी सर्जरी की जरूरत

पेइचिंग। दुनिया में दिल के मरीजों की संख्या काफी तेजी से बढ़ रही है, ऐसे में उन्हें इलाज के लिए काफी समस्या का सामना करना पड़ता है। ऐसे में अब चीनी वैज्ञानिकों ने एक ऐसा अविष्कार किया है, जिससे दिल के मरीजों को बड़ी राहत मिलेगी।

दिल के मरीजों

दरअसल यहां के वैज्ञानिकों ने ऐसा पेसमेकर बनाने में सफलता हासिल की है। जो हमारी दिल की धड़कनों से ऊर्जा लेकर ही अपना काम करने में सक्षम होगा। इस पेसमेकर में किसी भी प्रकार की बैटरी लगाने की जरूरत नहीं होगी।

जामिया मिलिया इस्लामिया के HRD मंत्रालय से अनुरोध के बाद भी शाहरुख खान को नहीं मिली डॉक्टरेट डिग्री

शुरुआती चरण में वैज्ञानिकों ने इस पेसमेकर को जानवरों पर टेस्ट किया है और उन्हें कामयाबी मिली है। इस अविष्कार को लेकर साइंस जर्नल एसीएस नैनों में एक लेख भी प्रकाशित हुआ था, जिसमें इस सेल्फ पावर्ड पेसमेकर को एक अहम कदम बताया गया है।

बताते चलें कि इस पेसमेकर के जरिए कई मरीजों की दिल की धड़कनों को नियमित कर उनकी जान बचाई जा सकती है।

हालांकि इस पेसमेकर के साथ यह सबसे बड़ी समस्या थी कि इनकी बैटरी केवल 5 से 12 साल तक ही चलती है। जिसे पूर्व में सर्जरी के जरिए बदलना पड़ता था लेकिन इस नए पेसमेकर से मरीजों को बड़ी राहत मिलेगी।

बताते चलें कि चीन के सेकेंड मिलिट्री मेडिकल यूनिवर्सिटी और शंघाई जिआओ टॉन्ग यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने इस समस्या का हल निकालने में कामयाबी हासिल की है। एक पारंपरिक पेसमेकर कॉलर बोन के त्वचा के नीचे इंप्लान्ट किया जाता है।

प्रधानमंत्री ने ऐसी भाषा में किया ट्वीट, जिसे लोग बिना समझे मान रहे BEST

जिसकी बैटरी और सर्किट से इलेक्ट्रिक सिग्नल्स पैदा होते हैं जो कि इंप्लान्ट किए गए इलेक्ट्रोडों के जरिए दिल तक पहुंचाए जाते हैं। बताते चलें कि पुराने पेसमेकर को बदलने के मरीज के शरीर में बार बार सर्जरी करनी होती थी। वहीं अब वैज्ञानिकों के इस प्रयास से इस समस्या से निजात मिलेगी।

वहीं अब वैज्ञानिकों द्वारा बनाया गया नया पेसमेकर मरीज के दिल की धड़कनों से ही चार्ज होने में सक्षम होगा। शुरुआती तौर पर इसका प्रयोग सुअरों में किया गया था। जिस पर पाया गया कि दिल की धड़कनों से प्लास्टिक फ्रेम पर दबाव पड़ रहा है और उनसे इतनी ऊर्जा निकलती है, जो लगभग बैटरी से चलने वाले पेसमेकर के बराबर होती है।

=>
LIVE TV