विधानसभा चुनावों से पहले ही नीतीश ने खेला ये दांव, बीजेपी को हो सकता है नुकसान

बिहार में आगामी विधानसभा चुनावों को लेकर बिहार की सियासत गर्मा गयी है. सियासत में बड़े उलट फेर का वक्त आ गया है. हाल ही में बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने तेजस्वी यादव से मुलाकात करके कयासों का बाजार और गर्म कर दिया.

बिहार को विशेष राज्य का दर्जा मांगने वाले नीतीश कुमार जब बीजेपी के साथ आए तो उनकी ये मांग पिटारे में कैद हो गई. यानी जिस ऊंची आवाज से वो केंद्र से विशेष राज्य का दर्जा मांगते थे वो बंद हो गया था. लेकिन एक बार फिर से नीतीश कुमार बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग की है.

सीएम नीतीश कुमार

नीतीश ने उठाई विशेष राज्य की मांग-

ओडिशा में पूर्वी जोनल काउंसिल की 24वीं बैठक में नीतीश कुमार ने गृह मंत्री अमित शाह के सामने विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग की. नीतीश कुमार ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से एक बार फिर मांग की कि बिहार राज्य को विशेष राज्य का दर्जा दिया जाए.

दिल्ली हिंसा के पीड़ितों पर केजरीवाल सरकार ने लगाया मरहम, बेघरों को मिलेगा 25-25 हजार

सवाल यह है कि क्या नीतीश कुमार चुनाव से पहले ग्राउंड तैयार कर रहे हैं. बिहार में एनआरसी और एनपीआर के खिलाफ प्रस्ताव विधानसभा में पास होने के बाद बीजेपी असहज स्थिति में आ गई है. अमित शाह नीतीश कुमार के मांग को किस तरह लेते हैं वो तो आने वाले वक्त में पता चल पाएगा. लेकिन इस बार बिहार का चुनाव बेहद दिलचस्प होने वाला है, ये कहना गलत नहीं होगा.

=>
LIVE TV