लॉकडाउन में ढाई महीने से फंसे ये कपल मनाने गए थे हनीमून

दुबई के रहने वाले 36 साल के खालिद मोख्तार और 35 साल की पेरी एबौजीद ने इजिप्ट की राजधानी काहिरा में 6 मार्च को शादी की थी. कुछ दिनों बाद कपल हनीमून के लिए मैक्सिको के कैन्कुन चले गए. तब कोरोना वायरस आज की तरह पूरी दुनिया में आक्रामक नहीं हुआ था. लेकिन अब ढाई महीने से अधिक होने बावजूद कपल अपने घर नहीं लौट सके हैं और मालदीव में फंस गए हैं.

वॉशिंगटन पोस्ट की रिपोर्ट के मुताबिक, मार्च में शादी के बाद हनीमून पर जाने के बावजूद कपल को अंदाजा नहीं था कि पूरी दुनिया में इस तरह से ट्रैवल बैन लगा दिया जाएगा. दुबई की निवासी और इजिप्ट की नागरिक होने की वजह से भी कपल को अपने घर लौटने में दिक्कत आ रही है.

19 मार्च को कपल मैक्सिको से तुर्की के रास्ते दुबई लौट रहे थे. लेकिन उन्हें इस्तांबुल में दुबई की फ्लाइट में सवार नहीं होने दिया गया. दो दिन तक दोनों एयरपोर्ट पर फंसे रहे. वे एयरपोर्ट से निकलकर शहर में भी नहीं जा सकते थे.

बैन की वजह से कपल को इजिप्ट जाने की इजाजत भी नहीं मिल पा रही थी. तब कपल ने इंटरनेट की मदद ली और उन देशों के नाम तलाशे जहां उन्हें बिना वीजा के एन्ट्री मिल सकती थी. उन्हें मालदीव का नाम मिला और वहां की फ्लाइट भी मिल गई.

आखिरकार कपल मालदीव पहुंच गए जहां उन्होंने कभी हनीमून पर आने के बारे में भी सोचा था. लेकिन मालदीव में भी रिजॉर्ट बंद हो रहे थे और ज्यादातर यात्री अपने देश लौट रहे थे.

हालांकि, मालदीव पहुंचकर कपल को इस बात की खुशी थी कि उन्हें एयरपोर्ट की सीट पर अब सोना नहीं पड़ेगा. उन्होंने मालदीव के अधिकारियों को भी इसके लिए शुक्रिया कहा.
अब दो महीने से अधिक वक्त होने के बाद भी पेशे से इंजीनियर खालिद और मीडिया में काम करने वालीं पेरी मालदीव में ही फंसी हैं. यूएई की नागरिकता नहीं होने की वजह से उन्हें दुबई लौटने में मुश्किल आ रही है. फिलहाल कपल ने दुबई से ही अपना काम शुरू कर दिया है.

=>
LIVE TV