लेनोवो वाइब के5 प्लस का रिव्यू

lenovo_vibe_k5_plus_front_back_goldएजेन्सी/  लेनोवो ने शानदार वाइब के4 नोट (रिव्यू) लॉन्च करने के कुछ महीनों बाद ही नया कम दाम वाला स्मार्टफोन वाइब के5 प्लस लॉन्च कर दिया है। लेनोवो वाइब के5 प्लस को सबसे पहले भारत में लॉन्च किया गया है लेकिन यह के4 नोट का अपग्रेड फोन नहीं है। 8,499 रुपये दाम वाला वाइब के5 प्लस की गिनती लेनोवो के4 नोट के बाद होती है। ऐसा शायद लेनोवो द्वारा मोटोरोला के लोकप्रिय बजट स्मार्टफोन लॉन्च करने के कारण भी है।

10,000 रुपये से कम कीमत में आज कई बेहतर फोन उपलब्ध हैं। और लेनोवो बजट स्मार्टफोन पर अपनी पकड़ बरकरार रखना चाहती है। इस हिसाब से कह सकते हैं कि के5 प्लस पॉपुलर फोन के3 नोट  (रिव्यू) का ही एक अपडेट है जिसे कम दाम में प्रीमियम लुक के साथ पेश किया गया है। क्या लेनोवो का यह फोन खरीदने योग्य है? हमारे रिव्यू में जानें स्मार्टफोन की खूबियां और कमियां।


लुक और डिजाइन
वाइब के5 प्लस की कीमत भले ही कम हो लेकिन इसका लुक शानदार है। हमें रिव्यू के लिए सिल्वर कलर वेरिएंट मिला लेकिन यह फोन गोल्ड और ग्रे कलर वेरिएंट में भी उपलब्ध है। फोन के डिस्प्ले के ऊपर की तरफ एक कैमरा और सेंसर विंडो और नीचे की तरफ कैपेसिटिव नेविगेशन बटन हैं। लेकिन फोन के कैपेसिटिव बटन के बैकलिट ना होने से अंधेरे में परेशानी हो सकती है। स्क्रीन के किनारों की तरफ फालतू की जगह खाली नहीं है जिससे फोन एक हाथ से आसानी से इस्तेमाल किया जा सकता है।

फोन के किनारे और रियर एक साथ बने हैं जो रियर कवर को निकालने में थोड़ी दिक्कत करता है। ऐसा लगता है कि फोन बीच में मेटल केसाथ इसके ऊपर और नीचे की तरफ प्लास्टिक का प्रयोग किया गया है लेकिन रियर पूरी तरह प्लास्टिक का है जिसके ऊपर एक पतली मेटल की परत है।

सिंगल एलईडी फ्लैश के साथ रियर पर एक कोने में कैमरा है। नीचे की तरफ सबसे खास दो स्पीकर ग्रिल और डॉल्बी लोगो है। सामान्य तौर पर बजट फोन में स्टीरियो स्पीकर बहुत कम दिये जाते हैं। स्मार्टफोन के ऊपर की तरफ 3.5 एमएम ऑडियो सॉकेट और माइक्रो-यूएसबी पोर्ट और दायीं तरफ पॉवर व वॉल्यूम बटन हैं।

फोन की बैटरी रिमूव की जा सकती है। बैटरी हटाने पर आप दो माइक्रो-सिम स्लॉट और एक अलग माइक्रोएसडी कार्ड स्लॉट देख सकते हैं। फोन खरीदने पर आपको एक 1.5ए चार्जर, यूएबी केबल और स्क्रीन प्रोटेक्टर मिलेगा। फोन के साथ लेनोवो कोई हेडसेट नहीं देता है।


स्पेसिफिकेशन और सॉफ्टवेयर
लेनोवो वाइब के5 प्लस में मिड-रेंज क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 616 प्रोसेसर है। फोन में 2 जीबी रैम और 16 जीबी इंटरनल स्टोरेज है। वाइब के5 प्लस एलटीई सपोर्ट के साथ आता है। बैटरी क्षमता 2750 एमएएच है और इसमें सभी स्टैंडर्ड कनेक्टिविटी फीचर जैसे ब्लूटूथ 4.1, वाई-फाई बी/जी/एन, एजीपीएस और यूएबी-ओटीजी मौजूद हैं।

फोन में 5 इंच डिस्प्ले है जिसका रिजॉल्यूशन 1080×1920 है। इस कीमत वाले फोन में यह डिस्प्ले अच्छा है। शानदार अनुभव देने के लिए फोन लेनोवो के वीआर हेडसेट को सपोर्ट करता है। रियर कैमरा 13 मेगापिक्सल जबकि फ्रंट कैमरा 5 मेगापिक्सल है। फोन से 1080 पिक्सल वीडियो रिकॉर्डिंग की जा सकती है। डॉल्बी ऑडियो ऐनहेंसमेंट भी उपलब्ध है।  

लेकिन फोन में फिंगरप्रिंट सेंसर और आई अमीटर जैसे फीचर नहीं हैं जबकि कम कीमत वाले दूसरे फोन इन खास फीचर के साथ आते हैं। ऐसा लगता है कि लेनोवो ने इस फोन में दी ही मेटल बॉडी को ही फोन की खासियत माना है।

लेनोवो ने इस साल प्रीमियम वाइब एक्स3 में दी गई नई वाइब यूआई के सभी फायदे बजट स्मार्टफोन ग्राहकों को नहीं देने का फैसला किया है। फोन में ऐप ड्रॉयर के साथ-साथ इन्हें स्विच करने का भी विकल्प नहीं दिया गया है। फोन 5.1.1 पर आधारित है।

फोन में लेनोवो कंपेनियन ऐप है जिससे आप सॉफ्टवेयर अपडेट और बेसिक परफॉर्म सब-सिस्टम टेस्ट जांच सकते हैं। यह शेयरइट और सिंकइट जैसे ऐप की तरह ही फाइल ट्रांसफर करने और डाटा बैकअप करने के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है। थीम सेंटर में आपको छह तरह की थीम और कई तरह के वॉलपेपर मिल जाएंगे लेकिन स्टॉक एंड्रॉयड नहीं मिलेगा। इसके अलावा गेम स्टोर, ट्विटर, स्काइप, वीचैट, यूसी ब्राउजर, फ्लिपकार्ट, मिंत्रा, ऐवरनोट और ट्रूकॉलर समेत कई ऐप प्री-इंस्टॉल मिलेंगे लेकिन इन सबको जरूरत के हिसाब से रिमूव भी किया जा सकता है।

परफॉर्मेंस
हमें वाइब के5 प्लस हर तरफ से एक अच्छा फोन लगा। स्क्रीन शार्प और चमकदार है हालांकि रंग थोड़े से हल्के मालूम पड़ते हैं। वहीं फोन में ऑडियो तेज और स्पष्ट है। फोन में दिये गए ट्विन स्पीकर से शानदार आवाज मिलती है। डॉल्बी एटमॉस कंट्रोल से स्मार्टफोन बाकी फोन से अलग अहसास देता है लेकिन यह सिर्फ सपोर्टेड ऐप में ही काम करता है। इस फोन को लेकर हमारी सबसे बड़ी शिकायत फोन के पिछले हिस्से का यूट्यूब वीडियो स्ट्रीमिंग जैसे ह्ल्के-फुल्के इस्तेमाल के दौरान बहुज ज्यादा गर्म होना है।

बेंचमार्क टेस्ट में इस फोन से भी हमें दूसरे बजट स्मार्टफोन जैसे ही आंकड़े मिले। लेकिन के3 नोट से वाइब के5 प्लस ने बेंचमार्क टेस्ट में कम आंकड़े अर्जित किये।

फोन के कैमरे से ली गई तस्वीरों की क्वालिटी ठीकठाक थी। फोन के कैमरे से क्लोजअप शॉट अच्छे आते हैं। हर तरह की रोशनी में फोन के कैमरे में फोकस एक बड़ी समस्या है। हर बार तस्वीर लेते समय हमें फोन को कसकर पकड़ना पड़ा नहीं तो परिणाम खराब हो सकता था। हालांकि, यह सब समस्याएं तभी सामने आती हैं जब आप तस्वीरों को फुल साइज़ में ज़ूम करते हैं। कैमरे में आपको चुनिंदा फिल्टर विकल्प भी मिलेंगे। 1080 पिक्सल पर रिकॉर्ड होने वाली वीडियो अच्छी है लेकिन रिकॉर्डिंग के दौरान भी फोन बहुत गर्म होता है। इसके अलावा फोन में वीडियो रिकॉर्ड करने के लिए 30 मिनट की सीमित अवधि भी हमें अनुचित लग

लेनोवो वाइब के5 प्लस स्मार्टफोन की बैटरी साधारण इस्तेमाल के दौरान एक दिन तक चल जाती है। हमारे वीडियो लूप टेस्ट में फोन की बैटरी ने 6 घंटे और 46 मिनट तक साथ दिया जो औसत से काफी कम है। फोन की बैटरी भी काफी धीरे चार्ज होती है।

हमारा फैसला
ऐसा लगता है कि फिलहाल लेनोवो के पास दूसरे ज्यादा बेहतर फोन हैं। कम दाम के साथ लॉन्च हुआ बेहतर फीचर और लुक के साथ यह फोन लेनोवो के3 नोट जितना लोकप्रिय हो सकता था लेकिन फोन की कमजोर बैटरी और बहुत ज्यादा गर्म होने की दिक्कत से हमें बहुत ज्यादा शिकायत है।

परफॉर्मेंस की बात करें तो वाइब के5 प्लस की टक्कर महंगे ऑनर 5एक्स (रिव्यू) से होती है और इसी कीमत वालेकार्बन क्वाट्रो एल50 एचडी से भी लेनोवो के इस फोन का मुकाबला है। हालांकि शाओमी रेडमी नोट 3 (रिव्यू) को थोड़े ज्यादा दाम में खरीदकर आप ज्यादा खुश महसूस कर सकते हैं।

 
 
=>
LIVE TV