यूपी बोर्ड में नकल का खेल जारी, लड़कियों की जगह लड़के दे रहे पेपर

उत्तर प्रदेश में बोर्ड की परीक्षाएं शुरू हो चुकी हैं और तमाम सख्ती के बावजूद भी नकलची अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं। यूपी पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स ने छापेमारी के दौरान 21 लोगों को गिरफ्तार किया, इनमें लड़कियों की जगह पर परीक्षा दे रहे लड़कों को भी अरेस्ट कर लिया गया है।

स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने हाई स्कूल की मैथमेटिक्स की परीक्षा के दौरान बलिया और गाजीपुर में कुछ परीक्षा केंद्रों पर छापेमारी की। बलिया में एक इंटर कॉलेज के प्रिंसिपल और चार अन्य को अरेस्ट किया गया। वहीं गाजीपुर में प्रिंसिपल के बेटे, 13 सॉल्वर्स और दो अन्य कैंडिडेट्स को गिरफ्तार कर लिया गया। गाजीपुर में एक टीचर के घर पर बैठकर आरोपी पेपर सॉल्व कर रहे थे। कॉलेज के प्रिंसिपल और टीचर मौके से भागने में सफल रहे।

एसटीएफ के एसएसपी अभिषेक सिंह ने कहा, ‘हमने गुप्त सूचना पर कार्रवाई करते हुए बलिया के मोहम्मद मुनीर मुस्लिम इंटर कॉलेज पर छापा मारा। यहां लड़कियों की जगह पर लड़के परीक्षा दे रहे थे, प्रवेश पत्र पर लड़कियों का ही नाम था। दिग्विजय यादव, राज विजय और मोहम्मद आतिफ नाम के सॉल्वरों को गिरफ्तार कर लिया गया है।’

एसएसपी ने बताया कि मौके से अबू बकर को गिरफ्तार किया गया, जो मैनेजर साहिल आलम का बेटा है। वह प्रिंसिपल अंजनी कुमार के साथ मिलकर परीक्षा के लिए सॉल्वर का जुगाड़ करता था और प्रति परीक्षा के लिए कैंडिडेट्स से 30 हजार रुपये चार्ज करता था।

बॉर्डर के पास भारतीय वायुसेना ने दिखाई अपनी ताकत, दुश्मन से निपटने का रिहर्सल…

इसी तरह से गाजीपुर के दाउदपुर में आदर्श किसान इंटर कॉलेज में एसटीएफ की छापेमारी हुई, जहां सुरेश याद नामक टीचर के घर बैठ कर सॉल्वर पेपर लिख रहे थे। आरोपी टीचर फरार हो गया, लेकिन उसके बेटे सहित 15 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपी यहां भी हर एक परीक्षा के लिए कैंडिडेट्स से 30 हजार रुपये चार्ज करते थे। यहां प्रश्न पत्रों की सील तोड़कर पहले ही सॉल्व कर लिया जाता और पैसा देने वाले कैंडिडेट्स को आंसरशीट सौंप दी जाती। यहां से एसटीएफ ने मैथ और केमिस्ट्री के सॉल्व पेपर्स बरामद किए गए।

=>
LIVE TV