मुश्किल में ओबामा, सऊदी अरब ने अमेरिका को दी चेतावनी

barack-obama_5650ed0ae1eecएजेंसी/ रियाध : सऊदी अरब ने अमेरिका को सीधे तौर पर धमकी दी है कि यदि अमेरिका ने सऊदी को 9/11 बिल पर उसे सहयोग नही करता है तो वह अमेरिका में अपने निवेश को बंद कर देगा साथ ही अपनी 750 अरब डॉलर की एसेट बेच देगा। उल्लेखनीय है कि सऊदी अरब की अमेरिका में करीब 750 अरब डाॅलर की संपत्ति है। यदि सऊदी अरब अपनी धमकियों पर अमल करता है तो फिर अमेरिका को काफी नुकसान हो सकता है।

संपत्ति बेचे जाने से इकोनाॅमिकल परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। इस मामले में न्यूयाॅर्क टाइम्स द्वारा जारी की गई रिपोर्ट में कहा गया है कि अमेरिकी कांगेस 9/11 बिल को पास करना चाहती है। सऊदी अरब को इस बात का डर है कि इस बिल के पास होने के बाद अमेरिका में खरीदी गई 750 अरब डाॅलर की संपत्ति अमेरिकी न्यायालय द्वारा जब्त की जा सकती है।

सऊदी अरब ने अमेरिका में 750 अरब डाॅलर की ट्रेजरी में निवेश किया हुआ है। दरअसल इस संबंध में 9/11 बिल लाया जा रहा है। मगर इस बिल को लेकर अमेरिका और सऊदी अरब में तनातनी है। अरब की सरकार ने साफ कहा है कि यदि यह बिल पारित हो गया तो वह अमेरिका का सहयोग नहीं करेगा। 

मगर अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने स्पष्टतौर पर कहा है कि इस बिल को बिना किसी सबूत के पास नही किया जाएगा। ऐसी सरकार की मंशा है। उन्होंने कांगेस से भी इसे पारित न करने की मांग की है। मगर प्रेसिडेंट ओबामा की राह आसान नज़र नहीं आ रही। 

9/11 हमले को लेकर यह बात भी सामने आई है कि इस बिल को ऐसे लोगों द्वारा सपोर्ट किया जा रहा है जिनके परिजन की मौत आतंकी हमले में हुई थी। जिसके कारण सरकार के लिए मुश्किल है। ऐसे में ओबामा की सरकार पर आरोप लगाए गए हैं कि ये लोग सऊदी अरब को बचाने का प्रयास कर रही है। 

=>
LIVE TV