Saturday , March 25 2017 [dms]

कुछ लोग चाहते थे सपा हो जाए कमजोर : मुलायम

सपा के अध्यक्ष मुलायम सिंहगाजीपुर उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने बुधवार को यहां कहा कि कुछ लोग कानाफूसी करके पार्टी कमजोर करना चाहते थे, लेकिन वे जल्द ही उजागर हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि सपा का कोई मुकाबला नहीं कर सकता। वर्ष 2017 में फिर सपा की सरकार बनेगी।

सपा के अध्यक्ष मुलायम सिंह का बयान

गाजीपुर के आईटीआई मैदान में मौजूद विशाल जनसमूह को संबोधित करते हुए मुलायम ने कहा, “यह वही गाजीपुर है, जहां सोशलिस्ट पार्टी का गठन हुआ था। हमने हमेशा कहा है कि सपा की स्थापना गाजीपुर में ही हुई थी।”

मुलायम ने कहा, “कुछ लोग सपा को कमजोर करना चाहते हैं। कानाफूसी और चुगलखोरी करते हैं। ऐसे लोग अपनी इमेज बनाने में लगे हुए हैं। इससे इमेज नहीं बनती। इससे पार्टी नहीं चलती। पार्टी में अनुशासन बहुत जरूरी है। सिर्फ नारों से पार्टियां नहीं चलती हैं। पार्टी के लिए काम करना पड़ता है।”

उप्र सरकार के पूर्व मंत्री ओम प्रकाश सिंह व नारद राय की प्रशंसा करते हुए मुलायम ने कहा, “दोनों ने काफी मेहनत की है। आज (बुधवार) जितनी भीड़ आई है, उसकी उम्मीद नहीं थी। उप्र में पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने की जरूरत है।”

उन्होंने कहा, “पूर्व मुख्यमंत्री राम नरेश यादव का कल ही निधन हो गया। वह काफी मिलनसार व्यक्ति थे। कोई भी काम होता था तो वह आकर सलाह लेते थे। कई मौकों पर उनके साथ कदम से कदम मिलाकर काम किया है।”

मुलायम ने कहा, “देश की सीमा पर हालात बहुत चुनौतीपूर्ण हैं। आए दिन सीमा पर जवान मारे जा रहे हैं। इस मुद्दे पर सभी लोग एक साथ खड़े हुए हैं। प्रधानमंत्री के मन में क्या है यह हम नहीं जानते, लेकिन सीमा पर जो स्थिति बन रही है, उसमें सुधार आना चाहिए।”

कौमी एकता दल के सपा में विलय को लेकर मुलायम सिंह ने कहा कि खुले विरोध के बाद भी अफजाल अंसारी, सिवगतुल्लाह अंसारी और मुख्तार अंसारी को पार्टी में शामिल कराया है। इसका काफी विरोध हुआ था। शिवपाल ने इसकी पहल की और कहा, “मैंने उसका साथ दिया। कुछ लोग विरोध कर रहे थे, लेकिन उनकी परवाह नहीं की।

LIVE TV