मुरादाबाद रेल मंडल ने तोड़ा भारतीय रेलवे का रिकार्ड, 24 घंटे में 38 किलोमीटर तक बिछा डाली बिजली लाइन

मुरादाबाद रेल मंडल प्रशासन ने विद्युतीकरण के तार डालने में भारतीय रेलवे का रिकार्ड तोड़ दिया है।  24 घंटे में 38 किलोमीटर तक बिजली की लाइन डाली गई। इतना ही नहींं इस लाइन को प्‍वाइंट पर कसने समेत इससे संबंधित अन्‍य सभी कार्य भी पूरे कर लिए गए। इससे पहले भी मुरादाबाद रेल मंडल तकनीकी में अपना डंका बजवा चुका है। जिसकी चारों ओर सराहना भी हो चुकी है। 

मंडल रेल प्रबंधक तरुण प्रकाश ने बताया कि विद्युतीकरण संगठन ने उन्नाव-बालामऊ-सीतापुर मार्ग पर विद्युतीकरण के लिए 24 घंटे के लिए रेल यातायात बंद करने की अनुमति मांगी थी। साथ ही इंजन आदि उपलब्ध कराने का अनुरोध किया था। रविवार रात 12 बजे से से सोमवार रात 12 बजे तक रेल यातायात बंद कर दिया था। इंजन व अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराई गईं थीं।  टीम ने लगातार काम कर 76 ट्रैक किलोमीटर विद्युतीकरण किया है। वास्तविक में यह 38 किलोमीटर रेल लाइन के ऊपर विद्युतीकरण की गई है। वाकई में इतने कम समय मेें यह उपलब्धि हासिल करना आसान नहीं था। विद्युतीकरण करने में दो तार डालना होता है, एकऊपर और एक नीचे होता है। रेलवे रिकार्ड में ट्रैक किलोमीटर के आधार पर नाप दर्ज होता है। इसमें 160 खंभे आदि पर तार को लगाने का काम किया गया है। यह भारतीय रेल का रिकार्ड है। अभी तक 22 फरवरी को उत्तर रेलवे में ही 26 किलो मीटर विद्युतीकरण का तार डालने का काम किया था। डीआरएम ने बताया कि इस मार्ग पर दिसंबर तक काम पूरा हो जाएगा और इलेक्ट्रिक इंजन से ट्रेनों का संचालन शुरू हो जाएगा। इस मार्ग से मालगाड़ी का संचालन किया जाएगा। 

कम समय में पुल बनाकर भी लूटी थी वाहवाही 

मुरादाबाद रेल मंडल इससे पूर्व डेढ़ से दो साल पहले महज कुछ ही घंटे में रेलवे पुल बनाकर वाहवाही लूटी थी। इसकी तैयारी भी काफी समय पूर्व ही कर ली गई थी। इसके बाद इसे अंजाम दिया गया। 

=>
LIVE TV