मां-बेटी के रिश्ते को खूबसूरती से दर्शाती है ‘निल बट्टे सन्नाटा’

neel_5719a7ec07230एजेंसी/

फिल्म : निल बट्टे सन्नाटा

डायरेक्टर : अश्विनी अय्यर तिवारी

स्टार कास्ट : स्वरा भास्कर, रिया शुक्ला, पंकज त्रिपाठी, रत्ना पाठक शाह

निर्देशन 

अश्विनी अय्यर तिवारी ने अपने जीवन में बहुत एड फिल्में बनाई हैं. लेकिन वह पहली बार ‘निल बट्टे सन्नाटा’ के जरिए बड़े परदे पर हाथ आजमा रहे हैं.

कहानी

‘निल बट्टे सन्नाटा’ कहानी उत्तर प्रदेश के ‘आगरा ‘ शहर की है जहां एक कामवाली बाई चंदा सहाय (स्वरा भास्कर) अपनी बेटी अपेक्षा सहाय (रिया शुक्ला) के साथ रहती है. जब अपेक्षा दसवीं कक्षा में पहुंचती है तो चंदा को उसकी फ़िक्र होने लगती है क्योंकि अपेक्षा गणित में काफी कमजोर होती है. फिर चंदा जिनके घर काम करती है उनकी सलाह लेकर उसी स्कूल में दाखिला लेती है जहां अपेक्षा पढ़ती है. फिर एक ही क्लास में पढ़ते हुए मां और बेटी के बीच कॉम्पिटिशन भी शुरू हो जाता है जिसका अंजाम काफी दिलचस्प होता है. 1 घंटा 40 मिनट चलने वाली इस फिल्म में आप बोर महसूस नहीं करेंगे.

स्क्रिप्ट

फिल्म की कहानी सिंपल है जिसे अच्छे ढंग से दर्शकों को परोसा गया है. फिल्म में एक गरीब परिवार के सपनों और महत्वाकांक्षाओं को पूरा करने की चाह को दिखाया गया है. आपसी झगड़ों, स्कूल में बर्ताव और निजी जिंदगी की झलकियों को कैमरे में बखूबी कैद किया गया है.

अभिनय

मुख्य भूमिका में स्वरा भास्कर और उनकी बेटी बनी रिया शुक्ला ने बेहतरीन अभिनय किया है. मालकिन के किरदार में रत्ना पाठक शाह का अच्छा रोल है. स्कूल के प्रिंसिपल का किरदार अभिनेता पंकज त्रिपाठी ने बड़ी ही सहजता के साथ निभाया है.

संगीत

फिल्म का गाना ‘डब्बा गुल’ अच्छा है, साथ ही फिल्म का बैकग्राउंड स्कोर भी कहानी के साथ सटीक चलता है.

देखें या नहीं?

अगर आपको लीक से हटकर फिल्में देखना पसंद है, तो पूरे परिवार के साथ आप ‘नील बट्टे सन्नाटा’ फिल्म देखने जा सकते हैं.

=>
LIVE TV