भारत को इसी साल मिल सकती है रूस की कोरोना वैक्सीन , लेकिन……

भारत में कोरोना वायरस कोहराम मचा रहा है। यहां आए दिन संक्रमित मरीज़ों का आंकड़ा तेजी से बढ़ता जा रहा है। देश में जारी कोरोना काल के बीच कोरोना वायरस की वैक्सीन को लेकर एक अच्छी खबर सामने आ रही है। खबरों की मानें तो अगर सबकुछ सही रहा तो इसी साल रूस द्वारा निर्मित कोरोना वैक्सीन भी भारत को मिल सकती है। आपको बता दें, भारत में जल्द ही रूस द्वारा निर्मित दुनिया की पहली कोरोना वैक्सीन का क्लिनिकल ट्रायल शुरू किया जा सकता है।

दरअसल, रूस के सॉवरेन वेल्थ फंड The Russian Direct Investment Fund (RDIF) ने भारत में कोरोनावायरस की वैक्सीन ‘स्पूतनिक-वी’ के क्लीनिकल ट्रायल और डिस्ट्रीब्यूशन के लिए डॉ. रेड्डीज लैब से हाथ मिलाया है। जिसके चलते इन दोनों कंपनियों के बीच हुए समझौते के मुताबिक आरडीआईएफ भारतीय कंपनी को वैक्सीन की 10 करोड़ डोज की सप्लाई करेगी।

यह भी पढ़ें : बेसन की मदद से हटाए चेहरे पर पड़े दाग-धब्बे, जानें विधि

हालांकि, इसके पहले भारत में रूस में निर्मित इस कोरोना वैक्सीन ‘स्पूतनिक-वी’ का क्लिनिकल ट्रायल में सफल साबित होना जरूरी है। परीक्षण सफल रहने और भारतीय दवा नियामकों से मंजूरी के बाद ही कंपनी इसकी खुराक खरीदेगी। बता दें, अगर इसका ट्रायल सफल होता है तो इसी साल नवंबर के महीने तक यह वैक्सीन भारत में उपलब्ध होगी।

=>
LIVE TV