Sunday , October 22 2017

भारती एयरटेल करेगी टाटा टेलीकॉम का अधिग्रहण

भारती एयरटेल और टाटानई दिल्ली। भारती एयरटेल और टाटा ने गुरुवार को घोषणा की कि दोनों कंपनियों ने टाटा टेलीसर्विसेज लि. (टीटीएसएल) और टाटा टेलीसर्विसेज महाराष्ट्र लि. (टीटीएमएस) के कारोबार को भारती एयरटेल में शामिल करने पर सहमत हुए हैं।

यह अधिग्रहण नियामकीय मंजूरियों के अधीन है। हालांकि बयान में कितनी रकम में यह अधिग्रहण की जा रही है, इसकी जानकारी नहीं दी गई है।

संयुक्त वक्तव्य में कहा गया है कि यह एकीकरण कर्ज मुक्त नकद-मुक्त आधार पर किया जाएगा, हालांकि भारती एयरटेल टाटा द्वारा दूरसंचार विभाग को स्पेक्ट्रम के लिए किए जानेवाले भुगतान की जिम्मेदारी ली जाएगी, जिसका स्थगित आधार पर भुगतान किया जाना है।

2020 तक भारत में 1700 करोड़ रुपये का होगा जासूसी व्यापार : खुलासा

समझौते के मुताबिक भारती एयरटेल टाटा के टीटीएसएल और टीटीएमएल के देश भर के 19 सर्किलों में (17 टीटीएसएल के तहत और दो टीटीएमएल के तहत) उपभोक्ता मोबाइल कारोबार (सीएमबी) का अधिग्रहण कर लेगी।

भारती एयरटेल के अध्यक्ष सुनील भारती मित्तल ने कहा, “यह भारतीय मोबाइल उद्योग में समेकन की दिशा में एक महत्वपूर्ण विकास है और मजबूत तकनीकी और ठोस स्पेक्ट्रम पोर्टफोलियो के जरिए विश्वस्तीय किफायती दूरसंचार सेवाएं मुहैया कराकर भारत की डिजिटल क्रांति का नेतृत्व करने की हमारी प्रतिबद्धता को मजबूती प्रदान करता है।”

डिजिटल इंडिया कार्यक्रम से जीडीपी 20-30 फीसदी बढ़ेगी : अल्फोंस

टाटा संस के अध्यक्ष एन. चंद्रशेखरन ने कहा, “हमारा मानना है कि आज का समझौता टाटा समूह और उसके हितधारकों के लिए सबसे अनुकूल समाधान है। हमारे लंबे समय से जुड़े ग्राहकों और हमारे कर्मचारियों के लिए सही घर खोजना हमारी प्राथमिकता रही है। हमने विभिन्न विकल्पों पर विचार किया और भारती के साथ यह समझौता कर खुश हैं।”

गोल्डमैन सैक्स (इंडिया) सिक्यूरिटी प्रा. लि. इस समझौते में टाटा की वित्तीय सलाहकार है।

=>
LIVE TV