भगवान ने लातूर की आवाज़ सुनी, मेघों ने गाया बूंदों का मल्हार

rain_57219ee611221एजेंसी/ लातूर : एक ओर जहां महाराष्ट्र के लोग सूखे की मार झेल रहे हैं। महाराष्ट्रवासियों को सूखे से खासी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। लोग अपना घर, खेत छोड़कर मुंबई और अन्य शहरों में नौकरी करने के लिए जा रहे हों ऐसे में लातूर के लोगों को झमाझम झडि़यों ने लोगों को राहत पहुंचाई। आसमान में बादलों की मौजूदगी से लोग खुश हो उठे। खुशनुमा माहौल में लोग राहत महसूस कर रहे थे।

किसान तो आसमान में ही टकटकी लगाए रहे। ऐसे में नांदेड़ और लातूर में कुछ देर में हवा चलने के साथ जोरदार बारिश हुई। बारिश होने पर लोग खुश हो उठे। लोग भीगते हुए ही अपने गंतव्य तक पहुंचे वही बच्चे बारिश में भीगने का आनंद लेते रहे। नांदेड़ के देगलुर, मुखेड, लोहा, कंधार, बिलोली, नायगांव और भोकर क्षेत्र में जोरदार बारिश हुई। बारिश के चलते कुछ देर के लिए विद्युत प्रदाय भी बाधित हो गया।

सबसे ज़्यादा बारिश लातूर के चाकूर और औसा क्षेत्र में हुई। कुछ क्षेत्रों में तो करीब आधे घंटे की बारिश हुई। हवा  चलने से लोगों के घरों के टीन शेड उड़ गए। बाद में लोगों ने इन शेड्स को व्यवस्थित किया। बारिश के कारण सड़कों पर जलजमाव की स्थिति बन गई। वाहन चालकों को वाहन चलाने में परेशानी होती रही। जोरदार बारिश के दौर में यातायात कम हो गया।

=>
LIVE TV