बड़ी खबर: 16 या 17 सितंबर को हो जायेगा चंद्रयान 2 के विक्रम लैंडर से संपर्क

इसरो का भले ही चंद्रयान-2 (Chandrayaan-2) के लैंडर विक्रम Vikram Lander से संपर्क टूट गया हो लेकिन वैज्ञानिकों ने हार नहीं मानी है. साथ ही ज्योतिषों की मानें तो आने वाली 16 या 17 सितम्बर को  चंद्रयान 2 (Chandrayaan-2) के विक्रम लैंडर से इसरो का संपर्क स्थापित हो जायेगा.  ज्‍योतिष के अनुसार लैंडिंग की तिथि तय करते समय किसी स्‍तर पर हल्‍की चूक होने के चलते विक्रम लैंडर Vikram Lander से इसरो का संपर्क टूट गया.

 

Chandrayaan-2

ख्‍यात ज्‍योतिषी पंडित प्रमोद शुक्‍ल के अनुसार, 7 नवंबर को उस समय ज्योतिषीय गणना के अनुसार ग्रह-नक्षत्र गोचर में चंद्रमा को डिस्टर्ब करने की हालत में थे. ज्योतिषीय नजरिये से देखें तो जो मुहूर्त तय हुआ था, वो काफी हद तक सही था, क्योंकि चंद्रमा उस वक्त सेनापति मंगल की वृश्चिक राशि में गुरु महाराज बृहस्पति के साथ गजकेसरी योग बना रहे थे.

चंद्रमा की ही अपनी कर्क लग्न उदित थी और चंद्रमा भाग्येश गुरु के साथ न सिर्फ गजकेसरी योग बना रहे थे, बल्‍कि गुरु महाराज खुद अपनी मीन राशि और कर्क राशि को पूर्ण शुभ दृष्टि से अमृतपान भी करा रहे थे.

पंडित प्रमोद शुक्‍ल ने यह भी माना कि 16 या 17 सितंबर को विक्रम लैंडर का पुनः हमारे वैज्ञानिकों से संपर्क स्थापित हो जाएगा. वो दिन सोमवार या मंगलवार का हो सकता है.

आज लांच होगा Apple का iPhone 11, कीमत के साथ साथ होगा खूबियों का खुलासा

बता दें कि चांद के बेहद करीब आकर विक्रम लैंडर (Vikram Lander) का संपर्क पृथ्‍वी से टूट गया था. हालांकि अभी उम्मीद पूरी तरह ख़त्म नहीं हुई है और हो सकता है कि बाद में लैंडर से संपर्क स्थापित हो जाए. अगर भारत क़ामयाब होता है तो अमरीका, रूस और चीन के बाद, भारत चंद्रमा पर किसी अंतरिक्ष यान की सॉफ़्ट लैंडिंग करवाने वाला चौथा देश बन जाएगा.

=>
LIVE TV