बोधगया में ‘बौद्ध महोत्सव’ शुरू, सीएम ने किया उद्घाटन

गया: बौद्ध संप्रदाय के प्रमुख तीर्थस्थल और विश्व प्रसिद्ध पर्यटक स्थल बिहार के बोधगया में शुक्रवार को बौद्ध महोत्सव 2019 का शानदार आगाज हुआ. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को बोधगया के कालच्रक मैदान में दीप प्रज्वलित कर इस महोत्सव की औपचारिक शुरुआत की. महोत्सव के पहले दिन देश-विदेश के कलाकारों ने कालचक्र मैदान में बने भव्य मंच पर अपनी आकर्षक प्रस्तुति दी.

 

तीन दिवसीय इस महोत्सव के पहले दिन श्रीलंका, तिब्बत, थाईलैंड, लाओस, वियतनाम सहित विभिन्न देशों से आए कलाकारों ने आए दर्शकों का मन मोह लिया. इस मौके पर महाबोधि मंदिर परिसर के साथ-साथ पूरे बोधगया को सजाया गया है.

बौद्ध महोत्सव में आए लोगों को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बोधगया मंदिर प्रबंधकारिणी समिति (बीटीएमसी) सचिव नंजे दोरजे के कार्यो की सराहना की. उन्होंने कहा, “शांति, प्रेम और अहिंसा का संदेश भगवान बुद्ध ने इसी धरती से दिया था. इसी उपदेश को लोगों तक पहुंचाना है.”

मुख्यमंत्री ने समाज में टकराव की स्थिति पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि आज समाज में टकराव की स्थिति बन जा रही है, जिसके लिए स्वभाव और पर्यावरण पर ध्यान देने की जरूरत है.

मोदी ने बताया कैसा होना चाहिए घर का सेवक, भाषण की अहम बातें….

उन्होंने कहा कि इस टकराव की स्थिति से बचने के लिए भगवान बुद्ध के विचारों पर चर्चा करना होगा. इसे सांस्कृतिक कार्यक्रम के रूप में नहीं बल्कि बुद्ध के मूल बातों को समझना है. उन्होंने कहा कि आज आपस में भाईचारा, प्रेम, सद्भाव का वातावरण बनाना जरूरी है.

=>
LIVE TV