बिहार विधानसभा चुनाव 2020:बागियों ने बढ़ाई भाजपा की चिंता,पार्टी ने छह नेताओं को किया छह वर्षो के लिए पार्टी से बाहर

बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर सारी पार्टीयां अपनी हरसंभव ताकत झोंक रही है। वहीँ भारतीय जनता पार्टी अपने बागियों से ही जूझने में लगी हुई है। माना जा रहा है कि चुनाव के समय सख्त कार्यवाई कर भाजपा यह सन्देश देने की कोशिश की है कि ऐसा अभाव बिल्कुल भी बर्दास्त नहीं किया जायेगा। पार्टी ने छह और बागियों को पार्टी से बाहर निकाल दिया है। वहीँ इसको लेकर पार्टी के प्रदेश मुख्यालय प्रभारी सुरेश रूंगटा ने आदेश जारी किया है।

गुरूवार को भारतीय जनता पार्टी ने एनडीए प्रत्याशियों के खिलाफ बगावत करने वाले छह और नेताओं को पार्टी से निकाल दिया है। कार्यवाई की जद में आये नेताओं पर भाजपा की छवि धूमिल करने का आरोप है।

बहरहाल, बिहार भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल के निर्देश पर मुख्यालय प्रभारी सुरेश रूंगटा ने आदेश जारी कर दिया है। पार्टी ने छह वर्षो के लिए निष्कासित किया है। इन नेताओं पर आरोप है कि वह पार्टी के तमाम वरिष्ठ नेताओं के समझाने के बाद भी नहीं मान रहे थे।

भारतीय जनता पार्टी ने जिन नेताओं को पार्टी से निकाला है उनमें सारण जिले के राकेश कुमार सिंह, वैशाली के प्रोफेसर अजित कुमार सिंह, वैशाली के पूर्व जिलाध्यक्ष चंद्रशेखर संजय सिंह, पश्चिमी चम्पारण जिले की रेनू कुमारी और अररिया जिले के पूर्व जिलाध्यक्ष चंद्रशेखर उर्फ़ बबन सिंह और सिवान जिले के जीतेन्द्र स्वामी हैं। पार्टी से निकाले गए सभी नेताओं पर बगावत करने का आरोप है।

=>
LIVE TV